पुलिस ने गुगनी और हैप्पी का डिस्चार्ज वाला आवेदन अदालत में किया दायर


एस.ए.एस. नगर, 11 फरवरी (अ.स) : पंजाबी गायक और फिल्मी अदाकार परमीश वर्मा और उसके दोस्त कुलवंत चाहल पर गोली चलाने के मामले में मोहाली पुलिस ने बद्दी से गिरफ्तार हरविंदर सिंह हैप्पी और एक वकील के कत्ल के मामले में सज़ा काट रहे धर्मिंदर सिंह गुगनी की उक्त केस में कोई शमूलियत सामने न आने पर उनके डिस्चार्ज वाले आवेदन को अदालत में दायर कर दी है। उधर पुलिस द्वारा दिलप्रीत सिंह बाबा की उक्त केस में सहायता करने वाले 3 अन्य आरोपियों हरजिंदर सिंह उर्फ आकाश, अर्शदीप सिंह उर्फ अर्श और गौरव पटियाला की पत्नी रेनू के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल की गई है। इस मामले में फरार चल रहा गौरव पटियाला पुलिस को वांछित  है, जबकि पुलिस दिलप्रीत सिंह बाबा और उसके साथी अरुण कुमार उर्फ सन्नी के खिलाफ पहले ही धारा 307, 148, 149, 427, 120बी, 212, 216, 201 और आम्ज़र् एक्ट के तहत अदालत में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। सन्नी पर आरोप है कि जब वह हरियाणा में रहता था तो उसने वारदात के बाद दिलप्रीत सिंह बाबे को पनाह दी थी। पुलिस द्वारा इस मामले में रुपिंदर गांधी के भाई मनविंदर सिंह उर्फ मिंदी के 21 अगस्त 2017 को उसके ही गांव रसूलड़ा (खन्ना) में हुए कत्ल के दौरान प्रयोग की गई पिस्तौल गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह बाबे की निशानदेही पर बरामद किया गया था और बाबे की निशानदेही पर ही 4 लाख रुपए भी बरामद किए गए थे। पुलिस के अनुसार गैंगस्टर रिंदा ही दिलप्रीत सिंह बाबे को असला मुहैया करवाता था और नसा तस्करों के साथ भी रिंदे ने ही उसकी मुलाकात करवाई थी, बारे जांच अभी जारी है।