आत्महत्या कर चुके किसानों के परिवारों द्वारा विधानसभा की ओर रोष मार्च



चंडीगढ़, 12 फरवरी (विक्रमजीत सिंह मान) : विधानसभा सत्र के पहले ही दिन शिरोमणि अकाली दल काफी सक्रिय नज़र आया। अकाली दल द्वारा प्रदेश में आत्महत्या कर चुके किसानों के परिवारों के साथ विधानसभा घेरने का कार्यक्रम बनाया गया। पीड़ित किसान परिवारों के साथ विधानसभा घेरने जाते अकाली नेताओं को चंडीगढ़ पुलिस द्वारा विधानसभा के चौक पर बैरीकेड लगाकर रोक दिया गया। अकाली दल द्वारा पीड़ित किसान परिवारों को लेकर यहां ही धरना दे दिया गया। विधानसभा के निकट धरने पर बैठे पीड़ित किसान परिवारों के साथ अकाली दल प्रमुख प्रकाश सिंह बादल भी पहुंचे। उन्होंने बातचीत करते कहा कि कैप्टन के शासन में हर वर्ग दुखी है तथा किसानों के साथ की वायदा खिलाफी को लेकर कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को तुरन्त मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। इस मौके पर सम्बोधित करते हुए अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोषणा की है कि वह पंजाब माडल को कांग्रेस-शासन वाले बाकी राज्यों में ही लागू करेगा। उन्होंने कहा कि इस तरह लगता है कि कांग्रेस पार्टी पंजाब के किसानों जैसे पूरे देश के किसानों को ठगना चाहती है। उन्होंने कहा कि अकाली दल किसानों की हो रही दुर्दशा का मामला पहले प्रदेश के राज्यपाल के पास लेकर जाएगा तथा फिर यदि ज़रूरत पड़ी तो किसानों के साथ किए वायदे पूरे करवाने के लिए राज्य स्तरीय आन्दोलन शुरू करेगा। इससे पहले 300 के करीब किसान आत्महत्या पीड़ित परिवारों ने शिरोमणि अकाली दल के नेतृत्व में यूथ अकाली दल के वालंटियरों के साथ मिलकर विधानसभा की तरफ मार्च किया तथा कांग्रेस सरकार के पास इसके सारे किसान ऋणों को माफ करने तथा आत्महत्या पीड़ित परिवारों को एक सरकारी नौकरी तथा 10 लाख रुपए मुआवज़ा देने के वायदों से मुकरने के लिए इंसाफ की मांग की। आत्महत्या कर चुके व्यक्ति के पिता मेजर सिंह बारे बोलते हुए धरने पर बैठे अजनाला के सुविन्द्रपाल सिंह ने कहा कि उसके पिता ने तो आत्महत्या पत्र में भी लिखा था कि कैप्टन तथा कांग्रेस सरकार उसकी मौत के लिए जिम्मेवार हैं। किसान हरजीवन सिंह ने कहा कि कैसे उसके भाई फिरोज़पुर निवासी सुखदेव सिंह ने अपनी आत्महत्या का जिम्मेवार कांग्रेस सरकार को ठहराया था। इसी तरह धरने पर बैठे पीड़ित परिवार के सदस्यों ने मीडिया के आगे अपनी आपबीती सुनाई। इस मौके अन्यों के अतिरिक्त विक्रम सिंह मजीठिया, डा. दलजीत सिंह चीमा, हरचरन बैंस, चरनजीत सिंह बराड़, यूथ अकाली दल के मालवा ज़ोन-1 के अध्यक्ष परमहंस सिंह रोमाणा, मालवा ज़ोन-2 अध्यक्ष सतबीर सिंह खटड़ा, मालवा ज़ोन-3 अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह राजूखन्ना, दोआबा ज़ोन अध्यक्ष सुखदीप सिंह, सरबजोत सिंह साबी, विनरजीत सिंह गोल्डी, मीतपाल डुगरी तथा गुरदीप सिंह गोशा भी उपस्थित थे।