जस्ता-निकिल-कॉपर गिरकर सुधरे : टिन में उछाल : पीतल टूटा


नई दिल्ली, 17 फरवरी (एजेंसी): गत सप्ताह लंदन मैटल एक्सचेंज में अधिकतर अलौह धातुओं में बड़े सटोरियों की बिकवाली से मंदे का दौर बना रहा जिससे यहां भी बाजार धीरे-धीरे टूटते चले गये। सप्ताह के अंतिम दिन लगातार मंदे के बाद जस्ता, निकिल-कॉपर में मंदे के बाद थोड़ा बाजार सुधरकर बंद हुए। टिन इंगट भी तेज रहा। जबकि पीतल के विभिन्न स्क्रैप जामनगर मंडी नरम होते ही माल अधिक आ जाने से घट गये। आलोच्य सप्ताह लंदन मैटल एक्सचेंज में लगातार सटोरियों की बिकवाली बनी रही, जिसके चलते कॉपर, निकिल, एल्यूमीनियम एवं जस्ते में मंदे का दौर बना रहा जिसके चलते स्थानीय अलौह धातु बाजार में भी हर भाव में स्टॉकिस्टों तथा आयातकों की बिकवाली का दबाव बन गया। रुपया भी थोड़ा डॉलर की तुलना में मजबूत हो गया। फलत: निकिल रसियन प्लेट 960 से गिरकर 945 रुपए नीचे में बिक गयी। उसके बाद फिर औद्योगिक कम्पनियों की मांग अंतिम दिन सुधरने से 10 रुपए का इजाफा हो गया। एलएमई में निकिल 12742 से गिरकर 12310 डॉलर प्रति टन पर बंद हुई। इसी तरह जस्ता भी एलएमई में 2714 से घटकर 2662 डॉलर प्रति टन रह जाने एवं स्टॉकिस्टों की बिकवाली से 240 से गिरकर 234 रुपए प्रति किलो यहां रह गया, लेकिन अंतिम दिन नीचे वाले भाव पर बड़ी कम्पनियों की लिवाली चलने तथा एलएमई में मजबूती से बाजार बंद होने से 3 रुपए सुधरकर 237 रुपए हो गया। कॉपर भी यहां 440 से घटकर नीचे में 437 रुपए बनने के बाद 439 रुपए अंतिम दिन बोलने लगे।