करतारपुर रास्ते पर होने वाली बैठक में श्रद्धालुओं के लिए भारत करेगा पाकिस्तान से यह मांग


नई दिल्ली, 13 मार्च - भारत की ओर से पाकिस्तान को यह कहा जायेगा कि करतारपुर रास्ते के द्वारा गुरुद्वारा करतारपुर साहिब जाने वाली सिक्ख संगत को वह (पाकिस्तान) खालिस्तानी अलगाववादियों के प्रचार से बचा कर रखे। अधिकारक सूत्रों ने बताया कि करतारपुर रास्ते के संबंध में पाकिस्तान के साथ होने वाली पहली बैठक के दौरान भारत द्वारा यह मुद्दा उठाया जायेगा। यह बैठक कल यानि गुरूवार को अटारी -वाघा सीमा पर भारत वाले हिस्से में होगी। इस्लामाबाद में भारतीय हाई कमीशन के आधिकारियों पर कथित अत्याचार करने और उनको देश में यात्रा के लिए आने वाले भारतीय सिक्ख श्रद्धालुओं तक पहुंचने से इन्कार करने को लेकर भारत ने पिछले साल नवंबर में पाकिस्तान के पास सख़्त विरोध जताया था। देश की प्रभुसत्ता और क्षेत्रीय अखंडता को कमजोर करने के इरादे के साथ श्रद्धालुओं की यात्रा के दौरान साम्प्रदायिक सदभावना को 'बिगाड़ने' और 'अलगाववादी प्रवृत्तियों को उत्साहित करने के प्रयासों की खबर पर भारत ने 'गंभीर चिंता' जताई थी। ऐसीं खबरें मिली है कि गुरुद्वारा साहिब तक जाने के दौरान रास्ते में भारतीय श्रद्धालुओं को खालिस्तान के समर्थन वाले बैनर भी दिखाऐ गए थे।