टिकट प्राप्ति के पेच में फंसे हुए हैं होशियारपुर हल्के से प्रमुख पार्टियों के दावेदार


होशियारपुर, 15 मार्च (बलजिंदरपाल सिंह): 9 विधान सभा हल्कों वाली होशियारपुर संसदीय सीट से चुनावों के ऐलान उपरांत चाहे राजनीतिक सरगर्मियां धीरे धीरे तेज़ होनी शुरू हो गईं हैं परंतु आम आदमी पार्टी तथा पंजाब डैमोक्रेटिक अलाईंस को छोड़ कर बाकी प्रमुख पार्टियों द्वारा अभी उम्मीदवारों का ऐलान न होने कारण टिकट लेने के दावेदारों, विशेष तौर पर कांग्रेस पार्टी से संबंधित दर्जन से अधिक दावेदारों द्वारा आप तथा अपने आकाओं द्वारा टिकट प्राप्ति के लिए ऐड़ी चोटी का ज़ोर लगाया जा रहा है। अभी तक इस हल्के से आम आदमी पार्टी द्वारा डा. रवजोत सिंह तथा पंजाब डैमोक्रेटिक अलाईंस द्वारा बसपा की टिकट पर पूर्व आई.ए.एस अधिकारी खुशी राम को हरी झंडी मिली है। भाजपा के मौजूदा सांसद व केंद्रीय राज मंत्री विजय सांपला अपनी टिकट पक्की मानकर चल रहें हैं परंतु अंदर खाते से फगवाड़ा से विधायक सोम प्रकाश भी टिकट पर अपनी दावेदारी ठोक रहें है जब कि कांग्रेस पार्टी में टिकट प्राप्ति के लिए एक अनार सौ बिमार वाली स्थिति बनी हुई है। मोदी लहर के बावजूद सिर्फ 1.41 प्रतिशत मतों के अंतर से जीते थे सांपला : 2014 की लोक सभा चुनावों दौरान मोदी लहर होने के बावजूद भाजपा के विजय सांपला सिर्फ 1.41 प्रतिशत मतों के अंतर से कांग्रेस पार्टी के महिन्दर सिंह के.पी को हराने में कामयाब हुए थे। यहां विजय सांपला 346643 मत प्राप्त करके विजेता रहे थे वहीं दूसरे स्थान पर रहे कांग्रेस के महिन्दर सिंह के.पी भी 333061 मत प्राप्त करने में सफल रहे थे। 1996 के बाद खत्म हुआ कांग्रेस का दबदबा : होशियारपुर संसदीय हल्के के पिछले इतिहास को देखा जाए तो स्पष्ट होता है कि वर्ष 1990 तक इस हल्के में कांग्रेस पार्टी का पूरा दबदबा रहा परंतु 1991 के बाद मुकाबला पूरा बराबरी का बन गया। 1967 से 1991 तक हुई 7 लोक सभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने 6 बार बाजी मारी है। हलके में न पहुंचना सांपला पर पड़ सकता है भारी : इस बार हो रहे चुनावों में अकाली भाजपा गठबंधन के लिए सबसे बड़ी सिरदर्दी यह बनती जा रही है कि हल्के के मतदाताओं में बड़े स्तर पर यह प्रभाव बन चुका है कि मौजूदा सांसद सदस्य हल्के में बिलकुल भी नहीं पहुंचे तथा उनके द्वारा सीधे तौर पर इलाके तथा खास तौर पर गांवों में अपना संपर्क बनाने की कोई कोशिश भी नहीं की गई। हलके के 9 में से 7 हलकों पर है कांग्रेस की सरदारी : हलके में पड़ते 9 विधान सभा हलकों में से 7 हलकों होशियारपुर, चब्बेवाल, शामचौरासी, टांडा, मुकेरियां, दसूहा तथा श्री हरगोबिंदपुर पर मौजूदा समय कांग्रेस के विधायक होने कारन कांगे्रस पार्टी इस सीट प्राप्ति के लिए काफी उम्मीदवंद है। कांग्रेस की टिकट के लिए यहां से पूर्व केंद्रीय राज मंत्री संतोष चौधरी, पूर्व सांसद महिन्दर सिंह के.पी, चब्बेवाल से विधायक डा. राज कुमार, शामचौरासी से विधायक पवन कुमार आदिया, आप छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुई यामिनी गोमर तथा अकाली दल छोड़ कर आए सरवण सिंह फिलौर सहित दर्जन से भी अधिक उम्मीदवार ऐड़ी चोटी का जोर लगा रहे है। आप तथा पी.डी.ए की वोटें बदल सकती है जीत हार का पलड़ा : दो पक्षों में बंटी जाने कारन चाहे आप का आधार पिछली संसदीय सुनावों के मुकाबले काफी गिरा हुआ लग रहा है परंतु टिकट के ऐलान में सबसे मोहरी होने तथा डा. रवजोत सिंह की अपनी मेहनती दिख तथा साफ सुथरी छवि उनके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकता है।