मामला गन्ना मिल की ओर अदायगी का : सल्फास व पैट्रोल लेकर तहसील काम्पलैक्स की छत पर चढ़े किसान


धूरी, 25 मार्च (संजय लहरी): गन्ना मिल धूरी खिलाफ किसानों की करीब 70 करोड़ की बकाया राशि को लेकर धूरी-संगरूर मुख्य मार्ग पर लगाए गए धरने के 18वें दिन परेशान हुए किसानों द्वारा आज एस.डी.एम. कार्यालय तथा तहसीलदार कार्यालय के बाहर धरना लगाते एस.डी.एम. धूरी तथा तहसीलदार सहित इन कार्यालयों के अन्य कर्मचारियों को भी अंदर ही बंद कर दिया तथा अदायगी न मिलने के रोष के तौर पर 4 किसान पैट्रोल तथा सलफास की गोलियां लेकर तहसील कम्पलैक्स की तीसरी मंजिल पर चढ़ गए। ‘अजीत समाचार’ की टीम द्वारा मौके पर जाकर प्राप्त की जानकारी अनुसार तहसील कम्पलैक्स की चारदीवारी अंदर धरना दे रहे किसान यूनियन एकता ऊगराहां से संबंधित सैंकड़ो किसान हलका विधायक सहित सरकार तथा प्रशासन के खिलाफ नारेबाज़ी कर रहे थे तथा अपने हकों की लड़ाई के लिए आर-आर की लड़ाई लड़ने की बात कर रहे थे। इसी कड़ी में गन्ना काश्तकारों में हरजीत सिंह बुगरा, जगमेल सिंह ऊभावाल, सर्बजीत सिंह अलाल तथा संतोख सिंह नामी 4 किसान तहसील कम्पलैक्स की दूसरी मंजिल पर बनी मंमटी पर सलफास की गोलियां तथा पैट्रोल की बोतलें लेकर चढ़े हुए थे। किसान नेताओं का पक्ष : किसान नेताओं गुरसंत सिंह पलासौर, भगवंत सिंह भलवान, अवतार सिंह आदि ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि किसानों को मरने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है तथा नियमों अनुसार गन्ना मिल ने किसानो की राशि 15 दिन लेट होने पर ब्याज सहित अदायगी करनी होती है, जबकि किसानों को राशि का मूल भी नहीं मिल रहा है। एस.डी.एम. का पक्ष :  एस.डी.एम. धूरी सतवंत सिंह से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि वह खुद एक किसान के पुत्र होने के कारण किसानों के दर्द को समझते हैं परंतु मिल  मालिकों द्वारा प्रशासन को दिलाए गए भरोसे के बाद किसानों को वादे के अनुसार अदायगी न होने कारण वह उच्चधिकारियों से बातचीत कर शुगर मिल मालिकों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करवाएंगे।