सुखराम पोते सहित कांग्रेस में हुए शामिल


शिमला, 25 मार्च (भूपिन्द्र शर्मा) : हिमाचल प्रदेश के मण्डी संसदीय क्षेत्र में राजनीतिक समीकरण बदल सकते हैं। पोते को संसद पहुंचाने की चाह में पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम ने एक बार फिर से पार्टी ली बदल ली। टिकट नहीं मिलने से नाराज सुखराम की सोमवार को पोते आश्रित शर्मा सहित कांग्रेस में घर वापिसी हो गई। वह अपने पोते सहित कांग्रेस में शामिल हो गए, हालांकि उनके बेटे व ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा अभी भी भाजपा में ही हैं। सुखराम अपने परिवार सहित करीब एक साल पहले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए थे। मण्डी हलके के राजनीति के चाण्क्य माने जाने वाले पंडित सुखराम ने मण्डी हलके से अपने पोते आश्रित शर्मा को भाजपा टिकट की मांग की थी, लेकिन पार्टी ने सुखराम की मांग को दरकिनार करते हुए मण्डी हलके से वर्तमान सांसद राम स्वरूप शर्मा को ही टिकट देते हुए उन पर विश्वास जताया। इससे सुखराम नाराज को गए। साथ ही सुखराम अपने कांग्रेस के करीबियों के संपर्क में भी थे। कांग्रेस टिकट पक्का होने पर ही सुखराम ने अपने पोते आश्रित शर्मा सहित भाजपा को अलविदा कह दिया तथा सोमवार को दिल्ली में कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए।