टॉप्स स्कीम से हटाये गगन ने जीता स्वर्ण, हीना को भी सोना


नई दिल्ली, 14 मई (वार्ता) सरकार की टारगेट ओलंपिक पोडियम (टॉप्स) स्कीम से खराब फार्म और फिटनेस के चलते बाहर किये गये स्टार निशानेबाज़ गगन नारंग ने आलोचकों को जवाब देते हुये जर्मनी के हैनोवर में अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज़ी चैंपियनशिप में पुरूषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया है। नारंग के साथ साथ स्टार महिला निशानेबाज़ हीना सिद्धू ने भी महिला 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण जीता। विश्व और ओलंपिक पदक विजेता निशानेबाज़ नारंग ने 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल में 249.6 का स्कोर किया और स्वर्ण जीता। उन्होंने दो अंकों के अंतर से स्वीडन के मार्कस मैडसेन को पराजित किया जिन्हें 247.6 के स्कोर के साथ रजत पदक और अमेरिका के जार्ज नॉर्टन को 225.9 के स्कोर के साथ कांस्य पदक मिला। इससे पहले भारतीय निशानेबाज़ गगन ने 622.4 का स्कोर हासिल करते हुये चौथे स्थान के साथ फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था। इसी स्पर्धा में अन्य भारतीय निशानेबाज़ों में मोनू कुमार 619.4 के साथ क्वालिफिकेशन में नौंवे, मानस कुमार सिंह 615.4 19वें, मुकुंद अग्रवाल 611.8, 24वें, गजेंद्र सिंह रनावत 611.4 26वें और अधिराज सिंह मान 608.7 के स्कोर के साथ 30वें पायदान पर रहे। गगन के लिये यह स्वर्ण इसलिये ज्यादा अहम है क्योंकि हाल ही में केंद्रीय खेल मंत्रालय की ओर से ओलंपिक और वैश्विक स्पर्धाओं की तैयारियों के लिये बनाई गई अहम योजना टॉप्स से उन्हें बाहर कर दिया गया था। वर्ष 2012 लंदन ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता गगन सहित 12 एथलीटों को उनके हालिया प्रदर्शन के आधार पर इस योजना से बाहर किया गया था। गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भी गगन का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था और इन खेलों के बाद मिशन ओलंपिक सेल ने खिलाड़यिं के प्रदर्शन की समीक्षा के बाद भारतीय निशानेबाज़ को टॉप्स से बाहर करने का फैसला किया। राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण विजेता हीना ने फ्रांस की माथिडे लैमोल के साथ स्कोर 239.8 बराबर रहने के बाद शूटऑफ में जाकर स्वर्ण पदक जीता। भारत की श्री निवेता ने 219.2 के स्कोर के साथ कांस्य पदक जीता।