मामला : 10वीं के सामाजिक शिक्षा विषय के प्रश्न-पत्र में गलतियों का बोर्ड ने 17 अंकों की दी विशेष ग्रेस


एस. ए. एस. नगर, 15 अप्रैल (तरविंद्र सिंह बैनीपाल)-पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं श्रेणी की वार्षिक परीक्षा के सामाजिक शिक्षा विषय के प्रश्न पत्र में पाई गम्भीर गलतियों कारण शिक्षा बोर्ड को प्रत्येक प्रशिक्षार्थी को 17 अंकों के करीब ग्रेस देने के लिए मज़बूर होना पड़ा। इन ग्रेस अंकों कारण परीक्षार्थियों को सामाजिक शिक्षा विषय में पास होना आसान हो गया है और सरकारी स्कूलों में सामाजिक शिक्षा विषय पढ़ा रहे अध्यापकों को भी परिणाम गत् वर्षों से बेहतर आने के आसार बन गए हैं। प्राप्त जानकारी अनुसार शिक्षा बोर्ड के नियमानुसार प्रत्येक परीक्षार्थी को 90 अंकों में से पास होने के लिए 30 अंक चाहिएं, जबकि 10 अंकों की इंटरनल असेस्मेंट स्कूल द्वारा लगा कर आनलाईन अपलोड करने होते हैं। शिक्षा बोर्ड द्वारा सामाजिक शिक्षा विषय की उत्तर पत्रियों का मूल्यांकन कर रहे अध्यापकों को प्रश्न पत्र में गलतियों कारण प्रश्न वाईज़ अंक देने की गुप्त हिदायतें जारी की गई हैं, जिस अनुसार 17 नम्बर प्रत्येक विद्यार्थी को दिए जाने हैं। इसके अलावा विद्यार्थी को बोर्ड के पास फार्मूले अनुसार शेष विषयों में पास होने की शर्त पर 7 अंकों की विशेष ग्रेस भी मिलती है। इस तरह 17+7=24 अंक बन जाते हैं। इसी तरह सामाजिक विषय में पास होने के लिए 30 अंक पूरे करने के सिर्फ 6 अंक अतिरिक्त आवश्यक हैं।इसी तरह बोर्ड द्वारा जारी हिदायतानुसार प्रश्न नम्बर 2 (5), 2 (3) और 2 (1) के लिए केवल उन परीक्षार्थियों को, जिन्होंने इस प्रश्न को हल करने का प्रयास किया है, को इस प्रश्न का पूरा लाभ, यानि 3 अंक दिए जाएं।