बच्चों को सिखाएं टेबल मैनर्स


बच्चे वही सीखते हैं जो उन्हें सिखाया जाता है। यूं तो हर माता-पिता बच्चों को हर तरह के शिष्टाचार का पालन करना सिखाते हैं लेकिन अक्सर कुछ बेसिक चीजें हैं जिन्हें सिखाना भी बहुत जरूरी होता है। उनमें से एक है ‘टेबल मैनर’। 
प्ले स्कूल में दाखिला: अगर आपके पास समय नहीं है और आप दोनों वर्किंग हैं तो आप अपने बच्चे को किसी प्ले स्कूल में दाखिल करा सकते हैं। ऐसे बहुत सारे प्ले स्कूल हैं जहां पढ़ाई के दौरान बच्चाें को बेसिक मैनर भी सिखाये जाते हैं। इससे बच्चों को भी फायदा पहुंचता है इसलिए बिना किसी हिचकिचाहट के उन्हें प्ले स्कूल में डालें।
एक-एक करके -  बच्चों को पता होता नहीं कि किस चीज को कैसे खाना है। ऐसे में अगर आप उनकी प्लेट में एक से ज्यादा आइटम रख देते हैं तो फिर वे जमीन पर या टेबल पर गिराने लगते हैं, इसलिए एक बार में थोड़ी सब्जी आदि दें। इससे वे सही तरीके से खाना सीख पाएंगे। 
गलती पर टोकें -  कोई भी चीज तुरंत तो आ नहीं जाती। उसके लिए प्रैक्टिस करनी होती है। ठीक इसी तरह बच्चों के अंदर सही टेबल मैनर आए इसके लिए जरूरी है कि उन्हें इसकी प्रैक्टिस कराएं। जब भी उन्हें कोई चीज खाने को दें तो अपने सामने बैठाकर खाने को कहें। अगर वो कुछ गलती करते हैं तो उन्हें बताएं भी। 
खाने के साथ बातचीत:  बच्चे तो आखिर बच्चे होते हैं। पूरे दिनभर के बाद खाने के समय ही तो उन्हें अपने पैरेंट्स मिलते हैं। ऐसे में वे पूरे दिनभर की अपनी बात खाने के टेबल्स पर ही कहना चाहते हैं लेकिन यह गलत मैनर होता है। आपको उन्हें प्यार से समझाना होगा कि बेटा आपकी हम सारी बात सुनेंगे पर खाते वक्त आप मत बात कीजिए क्योंकि यह गलत मैनर होता है। 
बेसिक बातें 
खाना खाने से पहले हाथों को अच्छे से धोकर आएं।
* खाना खाते वक्त मुंह से आवाज बिलकुल भी न निकालें।
* चम्मच से खाते वक्त प्लेट न बजाएं क्योंकि यह गलत तरीका होता है और सामने वाले को हो सकता है कि अच्छा न लगे।
*धीरे-धीरे खाएं।

(उर्वशी)