50 वर्षों से पंजाबी पत्रकारिता से जुड़े नच्छतर बोस नहीं रहे




डब्बवाली, 13 फरवरी (अ.स.): डब्बवाली क्षेत्र में आज पंजाबी पत्रकारिता के एक युग का अंत हो गया। गत लगभग 50 वर्षों से पत्रकारिता के साथ जुड़े वरिष्ठ पत्रकार नछत्तर सिंह बोस दिल का दौरा पड़ने  कारण आज निधन हो गया। आज सुबह उन्होंने अपनी रिहायश पर अंतिम सांस ली। डब्बवाली के राम बाग में उनकी चिता को अग्नि पुत्र गुरप्रीत सिंह ने दी। डब्बवाली प्रैस क्लब (रजि.) के सदस्यों ने श्री बोस की मृतक देह पर दोशाला देकर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। लगभग 68 वर्षीय नछत्तर सिंह बोस ने लगभग पांच दशक पहले  अकाली पत्रिका के ज़रिये पत्रकारिता वाली कलम पकड़ी थी। उसके उपरांत वह लम्बे समय तक रोज़ाना अजीत समाचार व अन्य समाचारों के लिए डब्बवाली से पत्रकारिता करते रहे। श्री बोस की पंथक राजनीति में खासी पैठ रही थी व वह संत हरचंद सिंह लौंगोवाल के बेहद करीबी में से गिने जाते थे। वह आज-कल रोज़ाना सपोक्समैन समाचार से जुड़े हुए थे। सारी उम्र पत्रकारिता को समर्पित करने वाले नछत्तर सिंह ज़िंदगी का आखिरी पड़ाव आर्थिक कमियों में गुज़ार रहे थे। वह डब्बवाली प्रैस क्लब (रजि.) के वरिष्ठ उपप्रधान सहित विभिन्न पदों पर रहे।
श्री बोस के निधन पर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री अमृतसर के प्रधान भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने गहरा दुख व्यक्त किया व कहा कि बोस की पंथ व पत्रकारिता प्रति सेवाओं को भुलाया नहीं जा सकता।