सिटी सैंटर घोटाले की अगली सुनवाई 6 जुलाई तक स्थगित 



लुधियाना, 4 जून (किशन बाली): स्थानीय अदालत ने सिटी सैंटर घोटाले की अगली सुनवाई 6 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया है। इस मामले में विजिलेंस ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह और अन्य को नामजद किया था। जानकारी मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह और अन्य लोगों के खिलाफ विजिलेंस द्वारा सिटी सेंटर घोटाले के मामले में केस दर्ज किया गया था लेकिन कैप्टन की सरकार बनने पर विजीलेंस अधिकारियों ने केस रद्द करने के लिए अदालत में याचिका दायर की थी। इस याचिका को पहले गवाह सुनील डे और उसके बाद लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख सिमरजीत सिंह बैंस इस मामले के शिकायतकर्त्ता सेवा मुक्त पुलिस अधिकारी कंवरजीत सिंह संधू और सेवानिवृत्त डी.जी.पी सुमेध सिंह सैनी द्वारा भी अदालत में चुनौती दी गई थी लेकिन अदालत ने इन सभी आवेदनों को खारिज करते हुए विजीलेंस को इस याचिका पर बहस करने की अनुमति दे थी।  
अदालत में बहस करते सरकारी वकील श्री विजय सिंगला ने बताया कि सिटी सेंटर प्रोजैक्ट पुरी इमानदारी और नियमों के तहत शुरु किया गया था, लेकिन जब इस पर स्वाल उठने शुरु हुए तो मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ही इस सारे मामले की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए थे और इसकी जांच एक निष्पक्ष जांच एजेंसी से करवाई जा रही थी, लेकिन बाद में विजीलेंस ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को ही इस मामले में नामजद कर लिया। उन्होंने बताया कि जांच एजेंसी मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के खिलाफ कोई आरोप साबित नही कर पाई। इसलिए नियमों मुताबिक इस मामले को रद्द किया जाना चाहिए। सरकारी वकील की तरफ से आज भी बहस पुरी नहीं हो सकी। जिस पर माननीय न्यायाधीश ने वकीलों को अगली तारीख तक बहस पुरी करने के लिए कहा है। माननीय न्यायाधीश ने आगे की सुनवाई 6 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया।