पंजाब में उपचुनावों हेतु प्रत्याशियों के लिए ज़ोर-आजमाईश शुरू


मेजर सिंह
जालन्धर, 16 जुलाई : भाजपा के विधायक सोम प्रकाश एवं अकाली दल के प्रधान एवं विधायक स. सुखबीर सिंह बादल के होशियारपुर एवं फिरोज़पुर क्षेत्रों से लोकसभा सदस्य चुने जाने के पश्चात फगवाड़ा एवं जलालाबाद विधानसभा सीट हेतु राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के बीच प्रत्याशी बनने के लिए जोर आजमाईश शुरू हो गई है। पंजाब की खाली घोषित की गई दो सीटें फगवाड़ा एवं जलालाबाद हेतु उपचुनाव सितम्बर के शुरू या फिर अक्तूबर में हरियाणा सहित चार राज्यों की विधानसभा चुनावों के साथ होनी निश्चित है। आम आदमी पार्टी के चार विधायक त्यागपत्र दे चुके हैं और एक विधायक मास्टर  बलदेव सिंह विरुद्ध दल बदली कानून तले कार्रवाई हेतु याचिका दायर है परन्तु स्पीकर द्वारा कई महीने गुजर जाने के पश्चात भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। पता चला है कि ‘आप’ के कांग्रेस में जा मिले विधायक स. नाजर सिंह मानशाहीया के क्षेत्र मानसा में सरकारी कामकाज में तेज़ी लाने के मौखिक आदेश मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किए जा चुके हैं और यह चर्चा है कि मानशाहीया का त्यागपत्र स्वीकृत करके इस क्षेत्र से कैप्टन परिवार का कोई सदस्य कांग्रेस प्रत्याशी बन सकता है। शेष विधायकों के त्यागपत्र बारे फैसले सम्बन्धी फिलहाल चुप्पी धारण की हुई है। जलालाबाद के प्रतिष्ठित क्षेत्र में स. सुखबीर सिंह बादल के मुकाबले हेतु ‘आप’ एवं कांग्रेस के दो लोकसभा सदस्य मैदान में उतारे थे। ‘आप’ द्वारा पंजाब के प्रधान भगवंत मान एवं कांग्रेस द्वारा लुधियाना से सांसद रवनीत सिंह बिट्टू प्रत्याशी बने थे। सुखबीर सिंह बादल 75271 वोटें हासिल करके बड़े अन्तर से जीते थे जबकि भगवंत मान को 56771 एवं बिट्टू को केवल 31539 वोट मिले थे। लोकसभा सांसद बनने के पश्चात स. सुखबीर सिंह बादल द्वारा क्षेत्र का विगत तीन दिन से दौरा करने के पश्चात उपचुनाव हेतु माहौल भी गर्माता जा रहा बताया जाता है। फिलहाल कांग्रेस एवं अकाली प्रत्याशियों बारे भीतरखाते बात चल रही है, परन्तु खुलेआम चर्चा शुरू होने की बजाये अकाली एवं कांग्रेस एक-दूसरे के प्रत्याशी बारे अटकलें लग रही हैं। पंजाब प्रदेश कांग्रेस के त्यागपत्र दे गए प्रधान श्री सुनील जाखड़ को भी प्रत्याशी बनाए जाने बारे कई कांग्रेसी क्षेत्रों में चर्चा है। 
फगवाड़ा क्षेत्र भाजपा के श्री सोम प्रकाश दूसरी बार विजयी रहे थे। फरवरी 2017 में सोम प्रकाश दो हज़ार के करीब के अन्तर से विजयी रहे थे और कांग्रेस के प्रत्याशी स. जोगिन्द्र सिंह मान दूसरी बार भी हार गए थे। ‘आप’ एवं बैंस भाइयों के संयुक्त प्रत्याशी जरनैल नंगल को 32374 वोट मिले थे एवं बसपा प्रत्याशी सुरिन्द्र ढांडा को केवल 6160 वोट मिले थे। इस बार कांग्रेस द्वारा सबसे ज्यादा नेता भागदौड़ कर रहे हैं। पूर्व मंत्री स. जोगिन्द्र सिंह मान के अतिरिक्त पंजाब सरकार में सेवा निभा रहे आई.ए.एस. अधिकारी स. बलविन्द्र सिंह धालीवाल, ज़िला कांग्रेस कपूरथला प्रधान बलवीर रानी सोढी, पूर्व विधायक एवं कुछ समय पहले कांग्रेस में शामिल हुए श्री मोहन लाल बंगा के अतिरिक्त दोआबा के प्रसिद्ध कांग्रेसी नेता श्री महिन्द्र सिंह के.पी. के भी जोर आजमाईश करने में लगे हुए बताए जा रहे हैं। आई.ए.एस. अधिकारी स. धालीवाल दो महीने तक सेवानिवृत्त होने वाले हैं और विगत 15 वर्ष से उनका फगवाड़ा में आवास है और बताया जाता है कि लोगों से सम्पर्क में भी लगे हुए हैं। 
भाजपा का प्रत्याशी बनने हेतु भी काफी नेता सक्रिय बताए जाते हैं। ‘आप’ के सांसद रहे और अब भाजपा में शामिल हुए स. हरिन्द्र सिंह खालसा केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री सोम प्रकाश की सुपत्नी अनिता सोम प्रकाश, पंजाब एस.सी. आयोग के पूर्व चेयरमैन एवं भाजपा पंजाब के उपप्रधान राकेश बाघा एवं सांपला गुट का कौंसलर ओम प्रकाश, बिट्टू भी मैदान में बताए जाते हैं। लोक इंसाफ पार्टी द्वारा पुन: करनैल नंगल को प्रत्याशी बनाए जाने हेतु जोर-शोर से तैयारी की जा रही है।
बरगाड़ी व बहिबल कलां में यादगार बनाने के लिए 3 सदस्यीय कमेटी का गठन
चंडीगढ़, 16 जुलाई (ब्यूरो चीफ): पंजाब सरकार द्वारा बरगाड़ी व बहिबल कलां में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं के विरुद्ध 2015 में रोष धरना दे रही सिख संगत जिनको पुलिस जुल्म व गोली का निशाना बनना पड़ा, के लिए उचित यादगार स्थापित करने के लिए एक 3 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है, जो मुख्यमंत्री पंजाब को इस संबंधी अपनी रिपोर्ट एक सप्ताह तक पेश करेगी। 
इस कमेटी में देहाती विकास के प्रमुख सचिव अनुराग वर्मा आई.ए.एस. व के. शिवा प्रसाद आई.ए.एस. के अतिरिक्त जतिन्द्र सिंह औलख आई.जी. प्रशासन को शामिल किया गया है। स. औलख स्वयं भी गांव बरगाड़ी से संबंधित है। वर्णनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा कुछ माह पहले जुल्म के शिकार हुई सिख संगत के लिए उचित यादकार बनाने की मांग को स्वीकृत करने की घोषणा की थी।