550वें प्रकाश पर्व को समर्पित श्री अकाल तख्त साहिब से सजाया गया नगर कीर्तन


अमृतसर, 11 नवम्बर (गगनदीप शर्मा) : पहली पातशाही जगत गुरु श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के संबंध में शिरोमणि कमेटी द्वारा अलग-अलग सभा सोसायटियों व अन्य संगतों के सहयोग से श्री अकाल तख्त साहिब से विशाल नगर कीर्तन सजाया गया। पांच प्यारों के नेतृत्व और श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की छत्रछाया में यह नगर कीर्तन श्री अकाल तख्त साहिब में अरदास करने उपरांत जयकारों की गूंज में रवाना हुआ। इस मौके पर श्री हरिमंदिर साहिब के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी जगतार सिंह द्वारा अपने सिर पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का पावन स्वरूप उठा कर पालकी साहिब में सुशोभित किया गया। नगर कीर्तन के आगे चल रही गतका पार्टियों ने जहां अपने जौहर दिखाए तो वहीं बैंड पार्टियां आकर्षण का केंद्र बनी। नगर कीर्तन के आगे चल रहे श्रद्धालुओं द्वारा नगर कीर्तन के सारे मार्ग को साफ करने की सेवा की गई। नगर कीर्तन का विभिन्न स्थानों पर श्रद्धालुओं द्वारा फूलों की वर्षा करके और अलग-अलग पकवानों व फलों का लंगर लगा कर स्वागत किया गया।  यह नगर कीर्तन गुरद्वारा मंजी साहिब दीवान के आगे से होता हुआ सरायों के रास्ते ब्रह्मबूटा अखाड़ा, घंटा घर चौक, माई सेवा बाजार सहित शहर के अलग-अलग बाजारों से होता हुआ शाम को श्री अकाल तख्त साहिब में समाप्त हुआ।  इस मौके पर श्री अकाल तख्त साहिब के पूर्व जत्थे. ज्ञानी गुरबचन सिंह, शिरोमणि कमेटी सचिव स. मनजीत सिंह बाठ, मैनेजर श्री दरबार साहिब स. जसविंदर सिंह दीनपुर, उप सचिव स. गुरमीत सिंह बुट्टर  सहित भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।