कठुआ दुष्कर्म मामला : 105वें गवाह की गवाही पूरी, जिरह शुरू


पठानकोट, 28 नवम्बर (चौहान, शर्मा) : कठुआ दुष्कर्म व हत्याकांड मामले में आज 105वें गवाह अरुण कौशल जोकि एसआईटी का सदस्य है। बतौर गवाह अदालत में पेश हुये। जिसकी अदालत में गवाही की प्रक्रिया पूरी हो गई बताई गई है और बचाव पक्ष के वकीलों ने जिरह शुरु कर दी है। बचाव पक्ष के वकील ए.के. साहनी ने बताया कि इस गवाह ने जोकि एसआईटी का सदस्य है, ने कथित दोषियों के कॉल डिटेल और अन्य कागजात इक्ट्ठे किये थे। इसने अदालत में करीब दो हजार पन्नों की रिपोर्ट पेश की थी। मामले में शामिल कथित दोषी तिलक राज जोकि पुलिस का हैड कांस्टेबल हैं, पर दोष लगे हैं कि उसने कथित दोषियों से कथित रिश्वत लेकर मामले को उलझाने की कोशिश की थी। आज गवाह अरुण कौशल, तिलक राज के ऊपर लगे आरोपों को अपनी रिपोर्ट में साबित नहीं कर सका। उन्होंने कहा कि तालिब हुसैन जोकि इस मामले का मास्टरमाइंड है और जिसके ऊपर श्रीनगर में बलात्कार का मामला चल रहा है, को अदालत ने गिरफ्तार करने की अर्जी पर पाबंदी लगाई है उसका चालान अभी तक पेश नहीं किया गया है। उन्होने चीफ जस्टिस जम्मू कश्मीर से मांग की है कि इस मामले की तुरंत सुनवाई की जाए और ज़रूरी फैसला लिया जाये। इसी तरह दुष्कर्म मामले में शामिल उन कथित दोषियों के साथ क्राइम ब्रांच के लोगों की ओर से की गई मारपीट का मामला भी श्रीनगर अदालत में पड़ा है। उसके ऊपर भी कोई कार्यवाही नहीं हो रही है। इसी तरह चंडीगढ़ हाईकोर्ट में नाबालिग कथित दोषी प्रवेश उर्फ मोनू द्वारा की गई अपील कि उसे नाबालिग माना जाए के संबंध में भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है, जबकि पठानकोट जिला और सैशन कोर्ट में चल रहा दुष्कर्म व हत्याकांड मामला खत्म होने की कगार पर है। उन्होंने मुख्य न्यायधीशों समक्ष निवेदन किया है कि वहां लगे मामलों का निपटारा पहले किया जाए ताकि इस मामले में उनको इंसाफ मिल सके।