केजरीवाल ने उप-राज्यपाल बैजल से समर्थन और सहयोग मांगा


नई दिल्ली, 5 जुलाई (वार्ता) : दिल्ली में प्रशानिक अधिकारों के बारे में उच्चतम न्यायालय के फैसले के एक दिन बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस फैसले को पूरी तरह लागू करने के लिए गुरुवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल से समर्थन और सहयोग मांगा। केजरीवाल ने श्री बैजल को आज लिखे एक पत्र में कहा,‘यह एक ऐतिहासिक निर्णय है क्योंकि यह अधिकारों को स्पष्ट करता है। अब, सभी पक्षों को इस आदेश को अक्षरश: लागू करने की दिशा में काम करने की ज़रूरत है।’ मुख्यमंत्री ने इस फैसले को पूरी तरह लागू करने और दिल्ली के विकास के लिए काम करने के लिए श्री बैजल से सहयोग और समर्थन मांगा है। वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों को गुरुवार को चेतावनी दी कि उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवहेलना करने पर उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। केजरीवाल ने ट््वीट किया,‘सभी अधिकारियों को उच्चतम न्यायालय के आदेश का सम्मान और पालन करना होगा। आदेश की खुली अवहेलना करने पर गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। यह किसी के भी हित में नहीं होगा।’ मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के उस बयान के कुछ ही देर बाद आई है जिसमें कहा गया था कि उन्होंने सचिव (सेवाएं) को आज फिर निर्देश दिया कि वह उनके कल के निर्देशों के अनुरूप आदेश जारी करें। श्री सिसोदिया ने कहा कि सचिव को सूचित किया गया है कि उनके आदेश का पालन नहीं करने का मतलब होगा कि एकतरह से उच्चतम न्यायालय की अवमानना की जा रही है और अधिकारी को अनुशासनात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।