दुष्कर्म पीड़िता ने दिया बच्चे को जन्म


बठिंडा छावनी/भुच्चो मंडी, 12 फरवरी (परविन्द्र सिंह जौड़ा, बिक्कर सिंह सिद्धू, रमन सिंगला) : अपने ननिहाल ज़िला बठिंडा के गांव लहरा बेगा में रहने वाली दुष्कर्म पीड़िता मां बन गई है। इस लड़की ने गत रात्रि सिविल अस्पताल बठिंडा में 1.25 बजे लड़के को जन्म दिया। लड़की को प्रसव पीड़ा शुरू होने पर सिविल अस्पताल के जच्चा-बच्चा वार्ड में दाखिल करवाया गया था, जहां गत रात छोटे आप्रेशन के बाद उसने बच्चे को जन्म दिया। बच्चे के जन्म के समय मां की हालत बेहद गंभीर बन गई थी, जिसमें धीरे-धीरे सुधार आना शुरू हुआ है। सूत्रों के अनुसार जन्म के समय बच्चे का भार 3.5 किलोग्राम था, जोकि स्वस्थ बच्चे का भार होता है, परन्तु बच्चे के दोनों पैर अंदर से मुड़े हुए थे। बच्चे को कुछ समय मशीनों में रखा गया। डाक्टरी सूत्रों का कहना है कि जच्चा-बच्चा को अभी कुछ दिन अस्पताल में रखा जाएगा। डाक्टरी सूत्रों का यह भी कहना है कि बच्चे का डी.एन.ए. टैस्ट करवाया जाएगा, जिससे दुष्कर्म के दो आरोपियों में से बच्चे के पिता का पता लग सकेगा।
वर्णनीय है कि 16 जनवरी को गांव लहरा बेगा की इस अविवाहित लड़की ने भारतीय किसान यूनियन (उगराहां) के नेताओं की मदद से ज़िला पुलिस आगे पेश होकर आरोप लगाया था कि पटवारी जगजीत सिंह तथा उसका साथी जगदेव सिंह उर्फ जग्गा वैरोके उसके साथ पिछले लगभग एक वर्ष से दुष्कर्म करते आ रहे हैं तथा इसमें पटवारी जगजीत सिंह की दूसरी पत्नी सरबजीत कौर भी सह-आरोपी है। पुलिस ने 17 जनवरी को पीड़िता का मैडीकल करवाकर तीनों आरोपियों के विरुद्ध भारतीय दंडावली के अधीन विधान की धारा 376, 506 तहत मुकद्दमा दर्ज कर लिया था। आरोपी जगजीत सिंह पटवारी तथा जग्गा वैरोके तो पहले ही पीड़िता के चाचे मंगा सिंह का कत्ल करके शव खेत में दबाने के आरोप में बठिंडा जेल में बंद है, परन्तु सह-आरोपी सरबजीत कौर अभी भी पुलिस की गिरफ्तार से बाहर है।