युवक द्वारा फंदा लगाकर आत्महत्या


फतेहगढ़ साहिब/ सरहिन्द,17 मई (भूषण सूद/ जतिन्द्र सिंह राठौर) : थाना बडाली आला सिंह के गांव मकारोंपुर के एक नौजवान के द्वारा गत रात फंदा लगाकर खुदकुशी करने का मामला सामने आया है। परिवार सदस्यों ने इस मौत के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है। प्राप्त सूचना के अनुसार 21 वर्षीय मृतक गुरविन्द्र सिंह का पिता बलविन्द्र सिंह गुरुद्वारा साहिब दुभाली में बतौर ग्रंथी सिंह सेवा करता आ रहा था, परन्तु 21 मार्च को वह गुरुद्वारा साहिब में यह सेवा छोड़कर गांव ही आ गया और अपने परिवार के साथ ही रहता था। उस ने बताया कि 24 मार्च को गांव दुभाली नजदीक एक टावर पर चोरी हो गई, जिस में फतेहगढ़ साहिब की पुलिस ने एक कबाड़ की दुकान वाले के रिश्तेदार सोमा सिंह निवासी हंसाली को गिरफ्तार कर लिया और फतेहगढ़ साहिब की पुलिस ने कथित रूप में यह कहना शुरू कर दिया कि पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किए गए व्यक्ति के द्वारा उस के बेटे गुरविन्द्र सिंह का नाम भी लिया जा रहा है, जिस कारण उस के परिवार को पुलिस कथित रूप में तंग परेशान करने लग गई और गुरविन्द्र सिंह को पेश करने के लिए कथित दबाव डालने लगी। उस ने बताया कि कल एक सहायक थानेदार की अगुवाई में फिर से फतेहगढ़ साहिब की पुलिस उन के घर आई और धमकियां देने लगी, जहां तक की उस की पत्नी (मृतक की माता) मनजीत कौर को भी डारा धमकाया गया और जब वह घर आए तो मनजीत कौर ने सारी बात बताई। उसने बताया कि उसका बेटा पुलिस की इस कार्रवाई के कारण बहुत परेशान था। उन्होंने बताया कि रात करीब 11 बजे तक मृतक गुरविन्द्र सिंह उन के पास ही टीवी देख रहा था, जब उन्होंने जोती लगाने के लिए सुबह कमरा खोला तो गुरविन्द्र सिंह का शव पंखे से लटक रहा था। उन्होंने कहा कि उस का लड़का बेकसूर था और पुलिस के द्वारा कथित तंग परेशान किए जाने के कारण ही उसने खुदकुशी की। उसने जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए इंसाफ की मांग की। क्या कहना है बडाली आला सिंह के थाना प्रभारी का : इस संबंधी जब थाना बडाली आला सिंह के प्रभारी गगनप्रीत सिंह के साथ संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि मृतक का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है, जिस के बाद बनती कार्रवाई की जाएगी।