18 विपक्षी पार्टियों ने की बैठक


नई दिल्ली, 11 अगस्त (भाषा) : विपक्षी दलों की आज यहां बैठक हुई, जिसमें विभिन्न मुद्दों पर विपक्ष की एकता और सरकार को घेरने के बारे में विचार विमर्श किया गया। राजद के सांसद जय प्रकाश नारायण यादव ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में विपक्षी दलों की बैठक हुई। इसमें विपक्षी दलों के बीच एकता को आगे बढ़ाने पर विचार-विमर्श हुआ। उन्होंने कहा कि जिस तरीके से देश में संविधान और लोकतंत्र की हत्या की जा रही है और अघोषित आपातकाल लगा दिया गया है विपक्षी दल उसका डटकर मुकाबला करेंगे। उन्होंने कहा कि मौजूदा भाजपा नीत केंद्र सरकार विपक्षी नेताओं पर झूठे मुकद्दमे और मामले चला रही है। बिहार में लालू यादव के परिवार पर झूठे मामले लगाकर छापेमारी की गई। साथ ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर जानलेवा हमला किया गया। उन्होंने कहा कि सरकार की इस तरह की कार्रवाइयों का कड़ा विरोध किया जाएगा। बैठक में, कांग्रेस की ओर से पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भाग लिया। अन्य विपक्षी दलों के नेताओं में, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी, जदयू के अली अनवर अंसारी, तृणमूल कांग्रेस की तरफ से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, भाकपा के डी राजा, जदएस के दानिश अली, राजद के जय प्रकाश यादव, एआईयूडीएफ के बदरद्दीन अजमल, रालोद के अजीत सिंह, आरएसपी के एनके प्रेमचंदन, नैशनल कांफ्रेंस के उमर अब्दुल्ला, द्रमुक के तिरुची शिवा, बसपा के सतीश चंद्र मिश्र, सपा के नरेश अग्रवाल और आईयूएमएल के मोहम्मद बशीर ने भाग लिया।