गुरदासपुर लोकसभा उप-चुनावलोगों ने कम नेताओं ने दिखाया अधिक उत्साह


बटाला, 11 अक्तूबर (काहलों, वनीत गोयल) : गुरदासपुर के लोकसभा उपचुनाव के लिए मतदान छुटपुट घटनाओं के बीच संपन्न हो गया। लोगों ने मतदान के लिए ज्यादा उत्साह नहीं दिखाया। उपचुनाव का नतीजा 15 को अक्तूबर को आना है। प्रशासन ने मतदान के लिए पूरे ज़िले में पुख्ता प्रबंध किए हुए थे। मुकाबले में उतरे सभी प्रत्याशियों ने चुनाव प्रचार में अपना पूरा जोर लगाया पर मुख्यत: कांग्रेस के सुनील जाखड़, अकाली-भाजपा गठबंधन के स्वर्ण सलारिया और ‘आप’ के सुरेश खजूरिया चुनाव प्रचार में छाए रहे। मुकाबला भी इन्हीं तीनों उम्मीदवारों के बीच होने के आसार है। मतदान करने के लिए सांसद से लेकर मंत्री तक पहुंचे हुए थे और उन्होंने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान किया। 
राज्य सभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा व विधायक फतेहजंग सिंह बाजवा ने डाली वोट  : सिख नैशनल कालेज कादियां में पोलिंग बूथ नंबर 150 पर राज्य सभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा व विधायक फतेहजंग सिंह बाजवा अपनी वोट डालने के लिए पहुंचे। दोनों भाईयों द्वारा अपने वोट डालने के उपरांत कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी सुनील कुमार जाखड़ की बड़े अंतर से जीत का दावा  किया।
कैबेनिट मंत्री बाजवा ने कादियां में लाइन में लगर डाली वोट : पंजाब के ग्रामीण विकास व पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने आज सुबह गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र के उप चुनाव का सिलसिला शुरु होते ही कादियां के बूथ नंबर 142 में अपने वोट के अधिकार का इस्तेमाल किया। वो सुबह 8.30 बजे अपने बूथ में पहुंचकर लाइन में लगे और अपनी बारी आने पर उन्होंने वोट डाली। बाजवा द्वारा पोलिंग बूथ पर तैनात चुनाव अमले को किसी मुश्किल बारे पूछने उपरांत चुनाव अधिकारी ने बताया कि सभी प्रबंध ठीक हैं और मतदान अमन-शांति से चल रहा है। 
प्रताप सिंह बाजवा व सेवा सिंह सेखवां कादियां में हुए आमने-सामने 
 कादियां शहर में जब राज्य सभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा व विधायक फतेहजंग सिंह बाजवा अपनी वोट डालने के लिए सिख नैशनल कालेज कादियां के बूथ नंबर 150 पर वोट डालने के उपरांत बाहर आ रहे थे तो उस समय अकाली-भाजपा गठबंधन के पूर्व मंत्री जत्थेदार सेवा सिंह सेखवां भी उसी बूथ के बाहर पहुंचे। 
राज्य सभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा और पूर्व मंत्री सेवा सिंह सेखवां दोनों विरोधी नेता हैं और चुनावों में एक-दूसरे के खिलाफ मैदान में उतरते रहे हैं, आज मतदान के समय कुछ मिनट के लिए आमने-सामने हुए। दोनों नेताओं ने एक दूसरे का हाल चाल पूछा और हाथ मिलाकर बातचीत की। मतदाता दोनों नेताओं को इक्ट्ठा देखकर हैरान हुए और दोनों दोस्तों जैसे मिलते नज़र आए।