‘पंजाब प्रगतिशील निवेश सम्मेलन-2019’ उद्योग जगत को सुरक्षित माहौल देंगे : कैप्टन


एस.ए.एस.नगर, 5 दिसम्बर (के.एस. राणा) : निवेश व विकास के लिए उद्योग को सुरक्षित व स्थिर माहौल मुहैया करवाने के लिए अपनी सरकार की दृढ़ वचनबद्धता को दोहराते हुए पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने आज पाकिस्तान सहित समाज विरोधी अनसरों को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि प्रदेश को अस्थिर करने की कोशिश करने वालों खिलाफ सख्ती से निपटा जाएगा। राज्य में गुंडाराज के बारे में पूछे जाने पर अमरेन्दर ने कहा कि इसे खत्म करना उनकी सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने चेतावनी दी, ॑ गैंगस्टरों को या तो हथियार डालने पड़ेंगे या फिर उन्हें परिणाम भुगतना होगा। उन्होंने ऐसे अनसरों को स्पष्ट शब्दों में कहा कि ‘सुधर जाओ या फिर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहो’। ‘प्रगतिशील पंजाब निवेश सम्मेलन-2019’ के प्रथम दिवस मुख्य सैशन दौरान विचार-चर्चा मौके कैप्टन अमरेन्दर सिंह ने कहा कि पाकि द्वारा पंजाब में गड़बड़ पैदा करने की हाल ही में पेश की कोशिशों को पंजाब पुलिस ने बुरी तरह कुचल कर रख दिया है और आईएसआई के सहारे पर प्रदेश में अलग-अलग ग्रुपों की घुसपैठ की पाकि सेना की कोशिशों को भी पुलिस ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। कैप्टन ने कहा कि पाकि की अपनी समस्याएं हैं, परंतु इन समस्याओं को हम अपनी समस्याएं नहीं बनने देंगे। उन्होंने दावा किया कि गत् दो वर्षों में पंजाब पुलिस ने 28 आंतकी गिरोहों का पर्दाफाश किया है और आईएसआई के आड़ प्राप्त 100 से अधिक आंतकियों को गिरफ्तार किया है। मुख्यमंत्री ने महिलाओं की सुरक्षा को यकीनी बनाने सबंधी कहा कि इस के लिए आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं ताकि महिलाओं को उद्योगों में नौकरियां, विशेषकर रात्रि की शिफ्टों दौरान कार्य करने में मुश्किल न आए। प्रदेश की प्रगति के लिए उद्योगिक विकास को महत्त्वपूर्ण सैक्टर बताते हुए कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने उद्योग की सुविधा के लिए उनकी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का ज़िक्र करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने उद्योगों और निवेशकों को उचित माहौल मुहैया करवाने पर ध्यान केन्द्रित किया हुआ है ताकि पंजाब को निवेश पक्ष से नम्बर एक स्थान पर ले जाया जा सके। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में तैयार की गई उद्योगिक नीति ने उससे पूर्व वाली नीति की कई कमज़ोरियों को दूर किया है। उन्होंने कहा कि कारोबार को सरल बनाने के लिए सिंगल विंडो क्लीअरेंस, आनलाईन आवेदन व मंज़ूरियां, उद्योगों के लिए बिजली व सब्सिडी, व्यापार तथा उद्योग के साथ सबंधित मुख्य कानूनों में संशोधन के साथ-साथ जल विनियमन जैसी सुविधाएं निवेशकारों को मुहैया करवाई गई हैं। उन्होंने कहा कि उद्योग सैक्टर रोज़गार के सही अवसर मुहैया करवा कर पंजाब के नौजवानों को दूसरे मुल्कों की तरफ जाने को नकेल  डालने में मददगार साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा अपने स्तर पर नौजवानों को कौशल विकास के लिए उत्साहित किया जा रहा है ताकि रोज़गार के लिए अधिक से अधिक अवसर पैदा हो सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योगिक विकास के लिए अनुकूल माहौल मुहैया करवाने के लिए स्थिरता सबसे आवश्यक है और वह उम्मीद करते हैं कि पंजाब में आगामीं सरकार भी इसी रास्ते पर चलेगी। पराली जलाने के साथ वायु प्रदूषण होने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री अपने स्टैंड को दोहराते हुए कहा कि केन्द्र सरकार को इस समस्या का पक्का समाधान ढूंढने के प्रयास करने चाहिएं। उन्होंने कहा कि वह अपनी अगली बैठक दौरान प्रधानमंत्री के पास फिर से इस मुद्दे को उठाएंगे।