सौर ऊर्जा को बढ़ावा देना समय की मांग : रमिंदर सिंह


अमृतसर, 14 दिसम्बर (राजेश कुमार) : बिजली की लगतार बढ़ती मांग और बिजली उत्पादन के क्षेत्र में आ रही कमी के बीच उपभोक्ताओं को चाहिए कि वह सौर ऊर्जा को बढ़ावा दें और अपने आवासीय तथा कारोबारी संस्थानों में सौर ऊर्जा संचालित उपकरण लगवाएं। उक्त विचार पंजाब एनर्जी डिवैल्पमेंट एजेंसी (पेडा) के संयुक्त निदेशक रमिंदर सिंह ने शनिवार को पंजाब इंटरनैशनल ट्रेड एक्सपो (पाइटैक्स) में सौलर रूफ टॉप विषय पर आयोजित सैमिनार को संबोधित करते हुए दी। उन्होंने बताया कि वर्तमान हालातों में सौलर ऊर्जा को बढ़ावा देने समय की मांग है। पंजाब सरकार द्वारा भी सौर ऊर्जा संचालित उपकरणों की स्थापना पर सब्सिडी दी जाती है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा पांच किलोवाट तक के सोलर प्लांट की स्थापना पर 80 हजार रुपए तक सब्सिडी दी जाती है। रमिंदर सिंह ने विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि पेडा के सभी कार्यालयों में आम लोगों की सुविधा के लिए हेल्प डैस्क स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जहां अपने संस्थानों में अब सौलर प्लांट को बढ़ावा दिया जा रहा है वहीं निजी क्षेत्र में इसकी अपार संभावनाएं हैं। सैमीनार को संबोधित करते हुए पीएचडी चैंबर ऑफ कामर्स की पावर एंड रैन्यूएवल एनर्जी कमेटी के चेयरमैन तथा हरटेक गु्रप के सीएमडी सिमरप्रीत सिंह ने कहा कि सौर ऊर्जा को लेकर जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है। चैंबर के सहयोग से पंजाब के कालेजों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। सिरमप्रीत ने कहा कि सौलर ऊर्जा उपकरण ऐसे हैं जिससे कोई भी व्यक्ति न केवल बिजली उत्पादक बन सकता है बल्कि जरूरत के अनुसार बिजली का इस्तेमाल करने के बाद उसे बेचकर आमदन का साधन भी पैदा कर सकता है। इस अवसर पर विशेष प्रस्तुति देते हुए बुलगारिया एंबेसी के कांउसलर हैड ऑफ ट्रेड एंड इक्नोमिक अफेयर इलइया डैकोव ने कहा कि सोलर के क्षेत्र में काम करने वाली बुलगारिया की कई कंपनियाें ने भारत में अपना प्रसार किया है। क्योंकि यहां सौलर की मांग तेजी से बढ़ रही है।