पंजाब यूनिवर्सिटी की मैसों/कंटीनों में पकेंगी चक्की के आटे की रोटियां


चंडीगढ़, 20 मई (मनजोत सिंह जोत) : पंजाब यूनिवर्सिटी की कंटीनों/मैसों में अब कम्पनियों के आटे की बजाए चक्की के आटे की रोटियां मिलेंगी। इसकी शुरुआत पहले लड़कियों के होस्टल नंबर 5 से की जाएगी, अगर यह स्कीम कामयाब रही तो सारे होस्टलों की मैसों और कंटीनों में चक्की का आटा बरता जाएगा। पंजाब यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों को काफी समय से कंटीनों और मैसों में मिलने वाले खाने और रोटियों की घटिया गुणवत्ता की समस्या का सामना करना पर रहा था, जिसके चलते विद्यार्थी संगठन ‘सत्थ’ द्वारा आज पहले उप-कुलपति कार्यालय के समक्ष रोष-प्रदर्शन करने का फैसला किया गया था परन्तु इससे पहले डीन विद्यार्थी भलाई प्रो. इमैनूयल नाहर द्वारा विद्यार्थियों के साथ बैठक रखी गई। इसमें विद्यार्थियों के अलावा मैसों और कंटीनों के ठेकेदार और करिंदे भी शामिल हुए और उन्होंने पेश आती समस्याओं के बारे बैठक में अवगत करवाया। विद्यार्थियों ने मांग की कि मैसों में यूनिवर्सिटी कम्पनी के आटे की बजाए चक्की का आटा बरते। विद्यार्थियों की इस मांग को मान लिया गया। इस संबंधी शीघ्र टैंडर भरा जाएगा। फिलहाल लड़कियों के होस्टल नम्बर 5 से इसकी शुरुआत की जाएगी। इसके साथ ही विद्यार्थियों ने बैठक में बताया कि होस्टल में लोहों (तवों) की कमी होने के कारण रोटियों को सीधा आग पर पकाया जाता है, जिस कारण रोटियां आधा सेक लगने के कारण खराब हो जाती हैं। इसलिए होस्टल ठेकेदारों को रोटी सही ढंग से तवे पर पकाने की हिदायतें दी जाएं और होस्टलों में लोहों की कमी को दूर किया जाए।