रिपोर्टों के अलावा भी बड़ा कुछ है ड्रग केस में : हाईकोर्ट


चंडीगढ़, 12 सितम्बर (सुरजीत सिंह सत्ती) : पंजाब में बड़े स्तर पर चलते रहे ड्रग्ज़ रैकेट के मामले में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट का मानना है कि इस मामले में हाईकोर्ट में दाखिल सीलबंद रिपोर्टों के अलावा और भी अनेक मुद्दे हैं। चीफ जस्टिस कृष्णा मुरारी की बैंच ने कहा है कि इस बड़े मामले को अकेली रिपोर्टों के साथ जोड़ कर ही नहीं देखा जा सकता और भी कई अहम पहलू इस मामले के साथ जुड़े हुए हैं। दरअसल एस.एस.पी. रहे राजजीत सिंह विरुद्ध ड्रग्ज के एक मामले में लगे आरोपों की जांच की रिपोर्ट पर हाईकोर्ट में दाखिल की गई थी जो कि अभी तक नहीं खोली गई हैं। इस रिपोर्ट को खोलने के लिए राजजीत सिंह द्वारा अर्जी दाखिल की गई थी और वीरवार को ड्रग्ज केस की बारी आते ही उनके वकील ने बैंच के पास निवेदन किया कि रिपोर्ट खोली जाए पर चीफ जस्टिस ने टिप्पणी की कि इस मामले को रिपोर्टों के साथ ही जोड़ कर नहीं देखा जा सकता है और रिपोर्टों खोलने बारे बाद में फैसला लिया जाएगा। वर्णनीय है कि इस मामले मं पूर्व राजस्व मंत्री बिक्रमजीत सिंह मजीठिया पर लगे कथित आरोपों संबंधी इनफोर्समैंट डायरैक्टर की रिपोर्टें भी सीलबंद पड़ी है और एक रिपोर्ट एस.टी.एफ. प्रमुख हरप्रीत सिंह सिद्धू द्वारा भी दाखिल की हुई है। इसके अलावा बी.एस.एफ. व आर्मी आदि द्वारा दाखिल 10 और रिपोर्टें भी खोलने के लिए पड़ी हैं।