प्लास्टिक की 64 वस्तुएं बंद करने की सिफारिश


जालन्धर, 16 सितम्बर (शिव शर्मा): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक बार प्रयोग में आने वाले प्लास्टिक को समाप्त करने का आह्वान देने के बाद केन्द्र व राज्य सरकार विभाग भी नुक्सान पहुंचाने वाली प्लास्टिक की वस्तुएं बंद करने की तैयारियों में जुट गए है। केन्द्र सरकार ने अभी बंद होने वाली प्लास्टिक की वस्तुओं बारे नोटीफिकेशन जारी नहीं किया है, परन्तु केन्द्रीय प्रदूषण रोकथाम बोर्ड ने इस बारे लगभग 64 अलग-अलग तरह की 64 प्लास्टिक की आईटमों पर पाबंदी लगाने की सिफारिश की है जबकि 12 वस्तुओं पर जल्दी तुरन्त पाबंदी लगाने के लिए कहा गया है। प्लास्टिक की जिन वस्तुओं पर पाबंदी लगाने की सिफारिश की गई है, उनमें 50 माइक्रोन से कम मोबाइल वाले प्लास्टिक के लिफाफे, नान वूवरन के कैरी बैग, छोटी रैपिंग पैकिंग फिल्म, थरमोकोल का बना सामान जिनमें छोटे पानी वाले कप 5 ग्राम से कम व 150 ग्राम एम.एल., थरमोकोल व पी.पी. का हर तरह का सामान, ठंडे पीने वाली प्लास्टिक की पाईपों व गुब्बारों के लिए लगी प्लास्टिक की पाईपों, सिगरेटों के फिल्टर, 200 एम.एल. से छोटी हर तरह की बोतलें, 100 माइक्रोन से कम मोटाई वाले फ्लैक्सें शामिल होंगी। पजाब में प्लास्टिक की वस्तुओं पर जनवरी 2016 में पाबंदी लगा दी गई थी। तंदुरुस्त मिशन पंजाब के डायरैक्टर काहन सिंह पन्नू का इस बारे कहना था कि केन्द्र द्वारा जिन प्लास्टिक की वस्तुओं पर पूरी तरह से पाबंदी लगाने के आदेश दिये जाने हैं, उनका इंतजार किया जा रहा है। पंजाब सरकार ने तो प्लास्टिक के खिलाफ मुहिम शुरू कर दी है। 11 सितम्बर से 1 अक्तूबर तक शहरों, गांवों में प्लास्टिक को इकट्ठा करके उसको समाप्त करने के लिए जागरूकता मुहिम चलाई जा रही है।