पराली जलाने की समस्या पर रोक लगाने के लिए 22आईएएस अधिकारी नियुक्त 


चंडीगढ़, 7 अक्तूबर (अ.स.): मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के निर्देशोनुसार मुख्य सचिव करन अवतार सिंह ने मौजूदा खरीफ सीज़न 2019 दौरान प्रदेश के सभी ज़िलों के खेतों में पराली जलाने की गतिविधियों पर निगरानी रखने व तालमेल हेतु 22 वरिष्ठ आई.ए.एस. अधिकारियों को तैनात किया है।   जानकारी देते कृषि विभाग के सचिव काहन सिंह पन्नू ने बताया कि अतिरिक्त मुख्य सचिव (उद्योग व वाणिज्य) विनी महाजन लुधियाना ज़िले में पराली जलाने की सरगर्मियों पर नज़र रखेंगे जबकि अतिरिक्त मुख्य सचिव (विकास) विश्वजीत खन्ना ज़िला संगरूर, अतिरिक्त मुख्य सचिव (बिजली) श्रीमती रवनीत कौर एस.बी.एस. नगर और अतिरिक्त मुख्य सचिव (खेल व युवक सेवाएं) संजय कुमार मानसा में पराली जलाने संबंधी गतिविधियों पर नज़र रखेंगे। इसी तरह प्रमुख सचिव (श्रम, सामाजिक न्याय, सशस्तीकरण व अल्पसंख्यक) किरपा शंकर सरोज को बरनाला, प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य एवं भलाई) अनुराग अग्रवाल को अमृतसर, प्रमुख सचिव (जेल) आर. वेंकटरतनम को गुरदासपुर, प्रमुख सचिव (स्थानीय निकाय) ए. वेनू प्रसाद को पठानकोट, वित्त आयोग (ग्रामीण विकास व पंचायत) सीमा जैन को रूपनगर, प्रमुख सचिव (जल संसाधन विभाग) सरवजीत सिंह को तरनतारन, प्रमुख सचिव (सामाजिक सुरक्षा, महिला व बाल विकास) राजी पी. श्रीवास्तवा को फतेहगढ़ साहिब, प्रमुख सचिव (खाद्य आपूर्ति व खपतकार मामले) के.ए.पी. सिन्हा को फरीदकोट, प्रमुख सचिव (योजनाबंदी) स. जसपाल सिंह को होशियारपुर, प्रमुख सचिव (तकनीकी शिक्षा एवं औद्योगिक प्रशिक्षण) अनुराग वर्मा को श्री मुक्तसर साहिब, प्रमुख सचिव (पर्यावरण, साईंस तकनालोजी व पर्यावरण) राकेश कुमार वर्मा को बठिंडा, प्रमुख सचिव (ट्रांसपोर्ट) के. सिवा प्रसाद को फाज़िल्का, प्रमुख सचिव (पर्यावरण व सांस्कृतिक मामले) विकास प्रताप को कपूरथला, प्रमुख सचिव (जनरल प्रबंधन) आलोक शेखर को जालंधर, प्रमुख सचिव (मुख्य मंत्री एवं शहरी यातायात) को पटियाला और प्रमुख सचिव (मैडीकल शिक्षा एवं आविष्कार) डी.के. तिवाड़ी को मोगा में पराली जलाने की गतिविधियों पर नज़र रखने हेतु तैनात किया गया है।