सुखबीर पार्टी को बचाने में लगे : प्रो. साधू सिंह


श्री मुक्तसर साहिब, 14 जनवरी : शहीदी जोड़ मेलों पर किसी भी राजनीतिक पार्टियों द्वारा सियासी स्टेजें नहीं लगानी चाहिए, बल्कि उन शहीदों को सिजदा करना चाहिए जिन्होंनें बहुत बड़ी कुर्बानी दी है। इन शब्दों का प्रगटावा पूर्व सांसद व आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रो: साधू सिंह ने आज श्री मुक्तसर साहिब में पत्रकारों से बातचीत करते हुए किया। इस समय पर समस्त आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने क्षेत्रीय अध्यक्ष जगदीप सिंह काका बराड़ के निवास स्थान पर एकत्रित होने उपरांत गुरुद्वारा टूटी गंढी साहिब (श्री दरबार साहिब) श्री मुक्तसर साहिब में माथा टेका और 40 मुक्तों की शहादत को प्रणाम किया। इस समय प्रो: साधू सिंह ने कहा कि ऐसे जोड़ मेलों पर सियासत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उन्होंने पार्टी के वर्करों द्वारा श्री दरबार साहिब में माथा टेका गया। इस उपरांत पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए प्रो: साधू सिंह ने कहा कि खुद को पंथक पार्टी कहलाने वाली शिरोमणि अकाली दल (बादल) ने भी श्री अकाल तख्त के आदेशों को न मानकर, बल्कि उसके विपरीत चलते हुए राजनीति कान्फ्रेंस की है। उन्हाेंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल मानसिक तौर पर परेशान हो गया है, क्योंकि शिरोमणि अकाली दल पार्टी खत्म होने के किनारे है। उन्होंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल पार्टी को बचाने के लिए हाथ पैर मार रहे है, लेकिन इस बार पंजाब के लोग इनको मुंह तक नहीं लगाएंगे। इसके ईलावा उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के तीन वर्ष बीत चुके है, लेकिन अभी तक पंजाबी खुश नहीं हुए, बल्कि ओर कठिन हो गए है। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरेन्द्र सिंह महल से बाहर नहीं निकलते, जिसके कारण हर वर्ग को सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इस समय जशन बराड़ लक्खेवाली, दिलबाग सिंह, जसपाल सिंह धालीवाल, जिलाध्यक्ष अर्श बराड़ जस्सेयाना, मिलापजीत गिल, राजबंस सिंह मांगट, इकबाल सिंह, जगदीश सिंह, डा: काला गोनियाना, सुखजिंदर सिंह बराड़, तेजिंदर सिंह बराड़, कमल सिंह, बाबू सिंह धीमान, बिक्रमबाज सिंह बराड़, गुरदीप सिंह, इकबाल सिंह, साहिल कुमार कुब्बा आदि उपस्थित थे।