पंजाब में पराली जलाने के मामले बढ़े


नई दिल्ली, 13 अक्तूबर (भाषा/उपमा डागा पारथ) : दिल्ली एनसीआर से सटे पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में अक्तूबर के पहले सप्ताह में पराली जलाने की घटनायें पिछले साल की तुलना में कम होने के बावजूद पिछले चार दिनों में पंजाब में ये घटनाएं बढ़ने से दिल्ली धुंध के घेरे में आ गई है। पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के साथ कृषि मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल एक से 8 अक्तूबर की तुलना में इस साल दिल्ली के तीनों पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की घटनाओं में 58 प्रतिशत गिरावट दर्ज की गई है। वहीं, पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक पंजाब में 12 अक्तूबर तक पराली जलाने की 630 घटनाएं दर्ज की गई हैं। कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल अक्तूबर के शुरुआती 8 दिनों की तुलना में इस साल पंजाब में पराली जलाने की घटनाओं में 60 प्रतिशत, हरियाणा में 48 प्रतिशत और उत्तर प्रदेश में 75 प्रतिशत गिरावट दर्ज की गई। इसके बावजूद दिल्ली में 11 अक्तूबर से हवा की गुणवत्ता में गिरावट ने पर्यावरण संबंधी चिंताओं को बढ़ा दिया है। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि 9 अक्तूबर के बाद पंजाब में पराली जलाने की घटनाओं में तेज़ी से हुए इजाफे के कारण रविवार को दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक 245 पर पहुंच गया।