श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव को समर्पित समागम करवाया


फरीदकोट, 16 अक्तूबर (जसवंत सिंह पुरबा): बाबा फरीद युनिवर्सिटी आफ हैल्थ साईसंज में जागृति मंच पंजाब व सरबत दा भला ट्रस्ट द्वारा सतगुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव को समर्पित समागम ‘चढ़ेया सोधणि धरति लोकाई’ का आयोजन किया गया। मंच के सचिव दीपक बाली ने कार्यक्रम की रूपरेखा के बारे में समूह श्रोताओं का अभिनंदन किया। इसके उपरांत पंजाबी युनिवर्सिटी पटियाला के श्री गुरू ग्रंथ साहिब अध्यन विभाग के मुखी डॉ. सर्बजिंदर सिंह ने गुरू नानक साहिब की अज़मत को भारतीय वेद साहित्य व अध्यात्मक परंपरा के हवाले से प्रकट किया। उन्होंने श्रोताओं को गुरू ग्रंथ साहिब के संदेश से जुडने की अपील की। जागृति मंच के प्रधान व वरिष्ठ पत्रकार सतनाम सिंह माणक ने बताया कि गुरू नानक साहिब ने गुलाम हिंदुस्तानीयों के मन में देश भक्ति का बीज बोया। उन्होंने एक ऐसी आज़ाद व बहादर पंजाबी कौम पैदा की जो दलितों, महिलाओं व आम व्यक्तियों के कल्याण के लिए जूझ मरने की ताकत रखती है। बाबा फरीद युनिवर्सिटी के उप कुलपति डा. राज बहादर ने अपने प्रधानगी भाषण दौरान कहा कि गुरू नानक साहिब सांझीवालता के पैगंबर थे। कार्यक्रम के अंत में अमृतर से आए सूफी गायक याकूब खान ने गुरू नानकसाहिब की महिमा में बाबू फिरोज़दीप शऱफ, लखविंदर जौहल व सुखविंदर अमृत द्वारा लिखे गीत क्लासीकल अंदाज में पेश किए। इस कार्यक्रम में युनिवर्सिटी के बहुत सारे डाक्टर, मैडीकल विद्यार्थियों के अतिरिक्त प्रो. ब्रह्मजगदीश सिंह, रवि सेठी, गुरप्रीत सिंह चंदबाजा, प्रिंसिपल डॉ. दीपज जॉहन भट्टी, प्रो. सुखजीत सिंह संधु, राजीव मिनहास व शहर निवासी उपस्थित थे। सारे कार्यक्रम का मंच संचालन डा. दवेंद्र सैफी ने किया।