मैं खुशकिस्मत हूं संकेत भोंसले 


‘बाबा की चौकी’ काफी सफल रही है। क्या आपको इस तरह की प्रतिक्रियाएं मिलने की उम्मीद थी?
-इस शो के बनने के दौरान इस बात को लेकर हमें उम्मीद थी कि जिस प्रकार का यह चैट शो है जिसमें बॉलीवुड के बहुत बड़े सितारे एंकर के रूप में अपने बॉलीवुड के सितारों साथियों के साथ बातचीत कर रहे हैं, इससे पहले टेलीविजन पर ऐसा कुछ आजमाया नहीं गया था। यह एक बेहतर कदम था। टीवी और डिजिटल पर जिस तरह की प्रतिक्रिया मिली है उससे इस फॉर्मेट पर हमारा विश्वास सही साबित हुआ। 
एक कॉमेडियन से एंकर बनकर आपको कैसा लग रहा है?
-एसआरके ने हमारी शूटिंग के बाद एक बहुत अच्छी  बात कही, उन्होंने कहा कि आपमें बेहतरीन कॉमिक  है कि आपने अपने विश्वास की एक दुनिया बनायी, उसके बाद आपने हमें उस दुनिया का हिस्सा  बनाया और हमें उस पर भरोसा करने के लिये प्रेरित किया। हम सब उसका हिस्सा बनकर खुश हैं। मुझे लगता है कि यही मेरी ताकत है। 
एमटीवी बीट्स के दर्शकों में आज की पीढ़ी के लोगों की संख्या ज्यादा है। वास्तविक जीवन में आप कितने युवा हैं?
-मैं सिर से पैर तक युवा हूं और मैं खुशकिस्मत हूं कि मुझे नब्बे के दशक की लोकप्रिय संस्कृति और सिनेमा को जानने का मौका मिला। मैं चाहता हूं कि संजय दत्त, सलमान खान जैसे बॉलीवुड के अन्य  चर्चित सितारों के माध्यम से उसे आज की पीढ़ी के सामने जीवंत कर सकूं।