गुरुद्वारा श्री बेर साहिब में गुरदास मान को सिरोपा देने संबंधी शिरोमणि कमेटी द्वारा जांच के आदेश


अमृतसर, 27 सितम्बर (राजेश कुमार) : हिन्दी को पूरे देश की एक भाषा के तौर पर अपनाने के दिए विवादित बयान के बाद गायक गुरदास मान की मुश्किलें थम नहीं रही हैं। अब गुरद्वारा श्री बेर साहिब सुल्तानपुर लोधी में  उनको सिरोपा देने का मामला प्रकाश में आया है जिसके शिरोमणि कमेटी द्वारा जांच के आदेश जारी कर दिये हैं। कमेटी के मुख्य सचिव डा. रूप सिंह ने कहा कि गुरदास मान द्वारा पंजाबी मातृभाषा के साथ किये द्रोह की शिरोमणि कमेटी द्वारा सख्त निंदा की गई थी और जब तक वे सार्वजनिक माफी नहीं मांगते तब तक उसको माफ नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि हाल ही में गुरदास मान को गुरद्वारा श्री बेस साहिब में सिरोपा देने की बात सामने आई है जिसकी कमेटी द्वारा जांच के आदेश जारी कर दिये गए है। इसकी जांच सचिव महिन्दर सिंह आहली को सौंपी गई है। उन्हाेंने स्पष्ट किया कि शिरोमणि कमेटी श्री अकाल तख्त साहिब के आदेशों पर कार्य करते हुए सिख सिद्धांतों और सिख भावनाओं का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था है अगर कोई प्रबंधकीय स्तर पर शिरोमणि कमेटी में कोई भी अधिकारी यां कर्मचारी गलती करता है जिससे शिरोमणि कमेटी की छवि खराब होती है उसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।