ड्रोन द्वारा आए हथियारों के मामले में एनआईए ने 4 खाड़कू लिए 16 तक रिमांड पर


एस.ए.एस. नगर, 11 अक्तूबर (जसबीर सिंह जस्सी): सीमा पार से ड्रोन द्वारा खेमखरण क्षेत्र में हथियार पहुंचाने के मामले में पंजाब पुलिस द्वारा खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से सबंधित 9 खाड़कूओं को गिरफ्तार करने के बाद राष्ट्रीय जांच एजैंसी एनआईए द्वारा उक्त मामले को अपने हाथ में लेते हुए 9 खाडकूयों को आज एनआईए के स्पैशल जज एनएस गिल्ल की अदालत में पेश किया गया। अदालत में एनआईए द्वारा आकाशदीप सिंह, बलवंत सिंह, शुभदीप सिंह व मान सिंह का रिमांड मांगते हुए दलील दी गई कि इनको पूछताछ के लिए दिल्ली लेकर जाना है क्योंकि उक्त मामला पाकिस्तान की खुफिया एजैंसी से जुड़ा हुआ है। उधर अदालत में बचाव पक्ष द्वारा पेश हुए एडवोकेट जसपाल सिंह मंझपुर व रणजोध सिंह सराओ ने रिमांड का विरोध करते हुए कहा कि पंजाब पुलिस द्वारा उनसे पहले ही पूछताछ की जा चुकी है। इस मामले में नामज़द मान सिंह गत् ढाई वर्ष से जेल में बंद है, इस लिए वह इस मामले में कैसे शामिल हो सकता है। उन्होंने पंजाब पुलिस पर आरोप लगाया कि उनको डर था कि मान सिंह कही गत् केस में से बरी न हो जाए, इस लिए उस पर नया केस दोबारा डाल दिया गया। उन्होंने गुरदेव सिंह सबंधी अदालत को अवगत करवाया कि गुरदेव सिंह को थाईलैड से फरवरी 2018 में गिरफ्तार किया गया था व पंजाब पुलिस द्वारा समय पर चार्जशीट दाखिल न करने पर सितम्बर 2018 में गुरदेव सिंह की जमानत हो गई थी। पुलिस द्वारा उसको भगौड़ा दिखाया गया था, जबकि गुरदेव सिंह द्वारा एसएस धालीवाल की अदालत में पेशी भुगती गई थी। बचाव पक्ष द्वारा एनआईए के आरोपों को नकारते हुए कहा कि पुलिस को लावारिस असला एवं कुछ अन्य मिला था, जिसको प्लाट करके उक्त सभी खाड़कूओं के पर डाल दिया गया। अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद 4 खाड़कूओं को 16 अक्तूबर तक रिमांड पर भेज दिया जबकि इस मामले में नामज़द रोमनदीप सिंह, साजनप्रीत सिंह, गुरदेव सिंह, बलवीर सिंह व हरभजन सिंह को पेशी के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।