कारगिल युद्ध को समर्पित वार मैमोरियल की 8वीं गैलरी तैयार


अमृतसर, 20 अप्रैल (सुरिंदर कोछड़): अमृतसर से अटारी-वाघा सीमा को जाती सड़क पर शाम सिंह अटारीवाला चौक में स्थापित किए गए ‘पंजाब स्टेट वार हीरोज़ मैमोरियल व म्यूज़ियम’ के कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों को समर्पित 8 नम्बर गैलरी तैयार हो चुकी है और प्रबंधकों द्वारा इसे जल्द दर्शकों के देखने हेतु खोले जाने की सम्भावना जताई जा रही है। वार मैमोरियल की मुख्य गाइड संदीप कौर ने इस बारे जानकारी देते हुए बताया कि वार मैमोरियल की 4 नम्बर गैलरी जोकि पहले व दूसरे विश्वयुद्ध, जलियांवाला बाग नरसंहार, शहीद भगत सिंह से संबंधित है और 9 नम्बर मोटीवैशनल (प्रेरणास्रोत) गैलरी जिसमें डाक्यूमैंट्री फिल्मों व तस्वीरों के ज़रिये युवाओं को सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित किया जाएगा, का निर्माण भी अंतिम चरण में पहुंच चुका है। उन्होंने बताया कि पंजाब स्टेट वार हीरोज़ मैमोरियल की पहली गैलरी में 4 हज़ार वर्ष पुराना युद्धों का इतिहास, दूसरी गैलरी में पांचवीं पातशाही से लेकर बाबा बंदा सिंह बहादुर व अन्य सिखों की शहादतों का इतिहास, तीसरी गैलरी में महाराजा रणजीत सिंह व लाहौर दरबार, चौथी गैलरी में पंजाब की ब्रिटिश शासन की स्थापति, पांचवीं गैलरी में वर्ष 1947-48 में पाकिस्तानी घुसपैठियों द्वारा कशमीर पर किए हमले की जानकारी, छठी गैलरी में वर्ष 1962 के भारत-चीन युद्ध व सातवीं गैलरी में युद्ध के दौरान शहादत देने वाले परमवीर चक्र विजेता सैनिकों बारे जानकारी तस्वीरों व प्रतिमाओं के ज़रिये बयां की गई है। उक्त के अलावा मैमोरियल की दीवार जिस पर स्टील के अक्षरों के साथ 4000 जंगी शहीदों  के नाम दर्ज किए गए हैं, अब उनके साथ ही वर्ष 1965-71 के युद्धों में गुमशुदा घोषित किए गए और पाकिस्तानी जेलों में बंद भारतीय सैनिकों के नाम भी अंकित किए जा रहे हैं।