मातृभाषा पंजाबी के हक में सोशल मीडिया पर उठी लहर


मलौद,18 सितम्बर - (कुलविन्दर सिंह निज़ामपुर) - केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की ओर से 'एक देश एक भाषा' में हिंदी को प्राथमिकता देने के दिए बयान के बाद पंजाब राज्य में विरोध की आवाजें आनी शुरू हो गई हैं परन्तु इन विरोधी सुरों में भाजपा की हिस्सेदार पंथक कहलाने वाली शिरोमणि अकाली दल पार्टी और न ही सूबे की सत्ताधारी  कांग्रेस ने शमूलियत की, बल्कि अपनी मातृभाषा की महत्ता को कायम रखने के लिए आम लोग ही बुलंद हौसले के साथ आवाज बुलंद करने लगे तो उस काफिले का हिस्सा बनने के लिए आम आदमी पार्टी के नेताओं और वालंटियरों ने सोशल मीडिया के अहम हिस्से फेसबुक और व्हाट्सप्प पर 'मां बोली पंजाबी मेरी बोली - मेरी पहचान' के लोगो वाली तस्वीर को लगाकर एक लहर का रूप दे दिया है।