बादल परिवार 550वां प्रकाश पर्व मनाने से रोकने की ताक में : चन्नी


चंडीगढ़, 11 अक्तूबर (अ.स) : पंजाब के पर्यटन और सांस्कृतिक मामले संबंधी मंत्री स. चरनजीत सिंह चन्नी ने आज यहाँ से जारी बयान में कहा है कि शिरोमणि अकाली दल बादल अकाल तख्त साहिब को इस्तेमाल करके पंजाब सरकार द्वारा 550 साला प्रकाश पर्व मनाने से रोकने की ताक में है। उन्होंने शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल और बीबी जगीर कौर को आड़े हाथों लेते हुये कहा कि श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व के अवसर पर साझे समागम करवाने में सबसे बड़ी रुकावट यह दोनों नेता ही हैं। उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल के यह नेता संकुचित राजनैतिक हितों के कारण पहले दिन से ही साझे समागम नहीं होने देना चाहते थे।
चन्नी ने एक और आशंका व्यक्त करते हुये कहा कि अब शिरोमणि अकाली दल बादल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार पर ऐसे आदेश जारी करने के लिए दबाव बना रहे हैं कि श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व को मनाने के लिए पंजाब सरकार के समागमों पर रोक लगाई जाये। चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार पहले ही साफ कर चुकी है गुरुद्वारा साहिब के अंदर करवाए जा रहे प्रोग्रामों में पंजाब सरकार कोई हस्तक्षेप नहीं करेगी और उसकी देख-रेख शिरोमणि कमेटी ही करेगी। जबकि बाहर के सभी प्रबंध पंजाब सरकार करेगी और करोड़ों रुपए ख़र्च करके 800 एकड़ में टैंट सिटी, बड़ा पंडाल और बाकी सभी प्रबंध मुकम्मल कर लिए हैं। जिस संबंधी श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब के आदेश पर हुई मीटिंगों में शिरोमणि कमेटी के प्रधान और बाकी सदस्यों को अवगत करवाया जा चुका है। उन्होंने साथ ही दोष लगाया कि पंजाब सरकार द्वारा श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व समागमों के लिए पाकिस्तान जाने वाले डैलीगेशन को रोकने के लिए भी केंद्र सरकार द्वारा स्वीकृति देने में सुखबीर बादल और हरसिमरत रोड़ा अटका रहे हैं। चन्नी ने कहा कि वह पहले ही साफ़ कर चुके हैं कि शिरोमणि अकाली दल बादल और बादल परिवार अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब के आदेशों को मानने से इन्कारी है और स्वयं को श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब से ऊपर समझता है। चन्नी ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा 550वें साला प्रकाश पर्व समागमों संबंधी सभी प्रबंध मुकम्मल कर लिए गए हैं। इसलिए उन्होंने एक बार फिर श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार साहिब से अपील की है कि वह शिरोमणि कमेटी को आदेश करें कि सरकार द्वारा करवाए जा रहे साझे समागमों में शिरकत और सहयोग करें जिससे दुनिया भर में सर्व साझेदारी का संदेश दिया जा सके।