550वें प्रकाश पर्व सम्बन्धी जंग-ए-आज़ादी यादगार में एक ही दिन में लगाए असंख्य पौधे


जालन्धर, 15 अक्तूबर (जसपाल सिंह): श्री गुरु नानक देव जी की वातावरण पक्षीय सोच और वातावरण के प्रति संकल्प को साकार रूप देने हेतु उनके 550वें प्रकाश पर्व के सम्बन्ध में करतारपुर स्थित जंग-ए-आजादी यादगार में जंग-ए-आजादी  यादगार फाऊंडेशन की प्रबन्धकीय कमेटी के प्रधान डा. बरजिन्दर सिंह हमदर्द के नेतृत्व में एक दिन में ही असंख्य पौधे लगाए गए। इस अवसर पर पौधे लगाने के अभियान की शुरुआत प्रसिद्ध वातावरण प्रेमी संत बलबीर सिंह सीचेवाल द्वारा पौधा लगाकर की गई। हालांकि यादगार में पहले से ही लगाए गए विभिन्न तरह के पौधों के कारण यादगार काम्प्लैक्स के भीतर हरियाली ही हरियाली है और रंग-बिरंगे फूल इसकी खूबसूरती को दोगुना करते हैं परन्तु फिर भी यादगार के पिछली ओर काफी स्थान अभी भी खाली पड़ा था। संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने हर तरह का सहयोग देने की पेशकश करते कहा कि वह पर्यावरण को बचाने हेतु किए जाने वाले हर प्रयास में बढ़-चढ़कर भाग लेंगे। आज यादगार में लगाए गए 250 से ऊपर पौधों का योगदान भी संत बलबीर सिंह सीचेवाल द्वारा दिया गया है। इस अवसर पर डा. बरजिन्दर सिंह हमदर्द ने संत बलबीर सिंह सीचेवाल से विचार-विमर्श करते पर्यावरण में आ रहे बिगाड़ एवं धरती के नीचे पानी के संकट पर गहरी चिंता व्यक्त की और कहा कि बेढंगे विकास और पेड़ों की अंधाधुंध कटाई से एक तरह से मानवीय जीवन का अस्तित्व ही खतरे में पड़ गया है।  मानवीय जीवन में पेड़ों की अहमियत का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि पेड़ ही हैं जो व्यक्ति का जन्म से लेकर मौत तक साथ देते हैं और हमें ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाकर पर्यावरण को बचाने में अपना योगदान डालना चाहिए। इस अवसर पर संत बलबीर सिंह सीचेवाल ने भी हवा एवं पानी के प्रदूषण को मानवीय जीवन हेतु खतरनाक बताते हुए कहा कि आज व्यक्ति अपने घटिया स्वार्थों की खातिर पर्यावरण को नुक्सान पहुंचा रहा है। इस दौरान संत बलबीर सिंह सीचेवाल द्वारा पर्यावरण की संभाल एवं पानी के संकट सम्बन्धी प्रकाशित पत्रिका ‘निर्मल नूर’ भी डा. बरजिन्दर सिंह हमदर्द द्वारा जारी किया गया। इस अवसर पर उनके साथ जंग-ए-आजादी यादगार फाऊंडेशन की प्रबन्धकीय कमेटी के सचिव डा. लखविन्द्र सिंह जौहल, लवली ग्रुप के चेयरमैन श्री रमेश मित्तल, वरिष्ठ पत्रकार सतनाम सिंह माणक, सरब मल्टीप्लैक्स के डायरैक्टर परमवीर सिंह, प्रोजैक्ट के कार्यकारी अधिकारी विनय बुबलानी एवं अन्य प्रमुख शख्सियतें भी उपस्थित थीं।