श्री आनंदपुर साहिब-बंगा मुख्य सड़क फिर ज़िलों व डिविज़नों में उलझी


शहीद भगत सिंह नगर, 20 अक्तूबर (नवांगराईं) : बंगा से श्री आनंदपुर साहिब मुख्य मार्ग एक वार फिर डविज़नों और ज़िलों के चक्र में फंस गया लगता है। इस मार्ग की मुरम्मत के लिए पंजाब सरकार द्वारा केवल ज़िला रूपनगर की हद में पड़ते हिस्सा काहनपुर खूही से आनंदपुर साहिब तक टैंडर लगाने से लोगों में रोष फैल रहा है। श्री गुरु तेग बहादर मार्ग जोकि बंगा से श्री अनंदपुर साहिब जाता है, न केवल पंजाब और देश विदेश से आने वाले लोगों को तख्त श्री केसगढ़ साहिब से श्री अकाल तख्त श्री अमृतसर साहिब और हिमाचल से सभी धार्मिक स्थानों के दर्शन करवाने के लिए मुख्य मार्ग ही नहीं बल्कि यह मार्ग पंजाब को हिमाचल प्रदेश के साथ भी जोड़ता है। राज्य की इस महत्वपूर्ण सड़क की दयनीय हालत सरकारी दावों और वादों को मुंह चिढ़ाती प्रतीत होती है। हालांकि यह सड़क 6 विधानसभा क्षेत्रों-बंगा, नवांशहर, गढ़शंकर, बलाचौर, रोपड़ और श्री अनंदपुर साहिब और तीन ज़िलों शहीद भगत सिंह नगर, होशियारपुर, रुपनगर में से गुज़रती है, परन्तु किसी भी सरकार की सव्वली नज़र इस सड़क की दुर्दशा का ध्यान खिंचने में असफल सिद्ध हो रही है। यह महत्पूर्ण सड़क इस कारण सरकारी बेरुखी का शिकार है क्योंकि लोक निर्माण विभाग की विभिन्न डिवीज़नें इसके निर्माण और मुरम्मत कार्यों को पूरा करने में कार्यशील हैं, परन्तु इन विभिन्न डिवीज़नों में कोई तालमेल न होने कारण इस सड़क की मुरम्मत का काम तीन हिस्सों-बंगा से गढ़शंकर, गढ़शंकर से काहनपुर खूही, काहनपुर खूही से श्री आनंदपुर साहिब में किया जाता है। इसका नतीजा यह होता है कि इन तीन हिस्सों में से एक हिस्से की मुरम्मत हो जाती है और बाकी हिस्से मुरम्मत से वंचित रह जाते हैं। जब इन हिस्सों की मुरम्मत होती है तो पहले वाले हिस्से की हालत खराब हो जाती है। इस मार्ग संबंधी पिछले दिनों विधानसभा स्पीकर राणा के.पी. सिंह के प्रयत्नों से लोक निर्माण मंत्री विजयइन्द्र सिंगला द्वारा 22 करोड़ रुपये की राशि रखी गई है और लोक निर्माण विभाग द्वारा इस वार फिर काहनपुर खूही से श्री अनंदपुर साहिब ज़िला रूपनगर की हदद में रिपेयर करवाने के लिए टैंडर लगा दिया है जबकि बाकी हिस्सा बंगा से काहनपुर खूही तक जोकि ज़िला होशियापुर और शहीद भगत सिंह नगर की हद में पड़ते हैं की रिपेयर सरकार द्वारा एक वार फिर छोड़ दी है जिससे इन ज़िलों के लोगों में भारी रोष है। लोगों की मांग है कि सरकार ज़िलों और डविज़नों के चक्रव्यू में से निकल कर इस एतिहासिक सड़क जोकि नौवीं पातशाही श्री गुरु तेग बहादुर के नाम से जानी जाती है की रिपेयर एक साथ करवाए।