खैहरा द्वारा इस्तीफा वापिस लेने के बावजूद दल बदलने का केस चलता रहेगा : राणा


चंडीगढ़, 23 अक्तूबर (एन.एस. परवाना) : पंजाब विधानसभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह ने यह बात स्पष्ट की है कि सुखपाल सिंह खैहरा द्वारा राज्य विधानसभा की सदस्यता से कई महीने पहले दिया गया इस्तीफा कल वापिस लेने के बावजूद उनके विरुद्ध दायर याचिका की कानूनी कार्रवाई चलती रहेगी कि क्यों न उनको दल बदलने के आरोप में सदस्यता से अयोग्य ठहरा दिया जाए। यह 2 याचिकाएं खैहरा विरुद्ध भुलत्थ क्षेत्र के वोटर हरसिमरन सिंह और आप विधायक दल के नेता हरपाल सिंह चीमा द्वारा दायर की गई है। हरसिमरत सिंह द्वारा पिछले वर्ष अक्तूबर महीने से चीमा द्वारा इस वर्ष जुलाई महीने में दायर की गई हैं।  जब तक इनका फैसला नहीं सुनाया जाता तब तक विधायकी से अयोग्य ठहराने की तलवार लटकती रहेगी। इस संबंध में खैहरा को पेशी के लिए नई तारीख दी जाएगी। कानून अनुसार स्पीकर को अपना फैसला सुनाने से पहले दोनों याचिका करने वालों का पक्ष भी सुनना पड़ेगा।  उधर विरोध पक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि खैहरा ने आम आदमी पार्टी के साथ धोखा किया है, इसलिए उनको पार्टी में वापिस नहीं लिया जाएगा।