अफगानिस्तान से 26 ट्रक प्याज़ और 10 ट्रक ड्राई फ्रूट भारत पहुंचा


अटारी, 5 दिसम्बर (अ.स.): पुलवामा हमले और कश्मीर में दारा 370 हटाने के बाद भारत पाकिस्तान के बीच बंद हुए व्यापार के बावजूद अफगानिस्तान से हुए समझौते के तहत अफगानी प्याज़ के ट्रक वाया पाकिस्तान भारत पहुंच रहे हैं लगातार विदेशी प्याज़ की आमद के बावजूद भारत में प्याज़ की कीमत इस समय शिखर पर है और यह बढ़ौत्तरी लगातार जारी रहने की संभावना जताई जा रही है। दूसरी ओर प्याज़ के दाम महंगा होने का कारण इसकी मांग में बड़ी गिरावट आई है। सब्ज़ी मंडी में भारतीय प्याज़ की आमद न के बराबर देखी जा रही है जिस कारण अफगानी प्याज़ भारतीय रसोई का शिंगार बना हुआ है। यह प्याज़ देखने को बेशक सुंदर लगता है पर इसको स्टोर करना महिलाओं के लिए बड़ी मुसीबत बना हुआ है क्योंकि इसको रखने से यह दूसरे दिन ही खराब होना शुरू हो जाता है जिस कारण भारतीय महिलाओं की पहली पसंद बेशक भारतीय प्याज़ है जिस कारण अफगानी प्याज़ की मांग और खपत घटी हुई है। यदि विगत एक सप्ताह से अफगानी प्याज़ की भारत में संगठित जांच चौकी अटारी के रास्ते आमद देखी जाए तो 29 नवम्बर को 21 ट्रक, 30 नवम्बर को 23 ट्रक, 2 दिसम्बर को 19 ट्रक, 3 दिसम्बर को 21 ट्रक, 4 दिसम्बर को 19 ट्रक, 5 दिसम्बर को 26 ट्रक अफगानी प्याज़ और 10 ट्रक ड्राईफ्रूट भारत पहुंचे यहां वर्णनीय है कि अफगानिस्तान से आते प्रत्येक ट्रक में 35 से 40 टन प्याज़ लाद कर भारत पहुंचता है जोकि आगे 2 भारतीय ट्रकों में लोड किया जा सकता है। यह विदेशी प्याज़ अमृतसर और दिल्ली के व्यापारियों द्वारा मंगवा कर उत्तर भारत की विभिन्न मंडियों में सप्लाई किया जा रहा है।