" जेल मंत्री रंधावा का सुखबीर पर पलटवार " सुखबीर किसी भी निष्पक्ष एजैंसी या मौजूदा न्यायाधीश से करवा लें जांच : रंधावा


चंडीगढ़, 7 दिसम्बर (विक्रमजीत सिंह मान): शिरोमणि अकाली दल व राज्य के जेल मंत्री के बीच शुरू हुआ शब्द वार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। जहां अकाली दल द्वारा मंत्री रंधावा पर गैंगस्टरों के साथ संबंध रखने व अकाली नेता के कत्ल मामले में हाथ होने के आरोप लगाकर कैबिनेट से बर्खास्त करने की मांग की जा रही है वहीं आज जेल मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने अकाली नेताओं द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को नकारते हुए कहा कि वह किसी भी निष्पक्ष जांच एजैंसी, सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के मौजूदा न्यायाधीश से जांच के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल को वह चुनौती देते हैं कि वह भी अपनी सरकार के समय हुई बेअदबी की घटनाओं, पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया द्वारा ‘चिट्टे’ की तस्करी में शमूलियत व गैंगस्टरों के समर्थन के आरोपों की समयबद्ध जांच करवाने के लिए सहमति दे। उन्होंने कहा कि वह हर स्तर की जांच के लिए लिखकर देने को तैयार हैं और साथ ही सुखबीर व मजीठिया भी जांच के लिए लिखकर दें।  रंधावा ने कहा कि पिछली अकाली-भाजपा सरकार समय अमन-कानून की बुरी व्यवस्था व जेलों के नाकाम प्रबंधों का खमियाज़ा मौजूदा सरकार को भुगतना पड़ रहा है और पिछली सरकार की गैंगस्टरों का समर्थन, गैंगस्टर कल्चर व जेलों के कुप्रबंधों की विरासत ने ही राज्य का समूचा ढांचा बिगाड़ा है जबकि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में आपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए कई बड़े सुधार व सख्ती की गई है। उधर सुखबीर सिंह बादल द्वारा गत दिनों पंजाब के राज्यपाल से मिलकर रंधावा को बर्खास्त करने की मांग की गई।