त्यौहारों से पहले समझदारी से करें खरीददारी


त्यौहारों के दौरान स्टोर और ई. कॉमर्स पोर्टलज़ की भारी छूट के साथ इस प्रभावशाली मौके का किस ढंग से उपयोग करना चाहिए सवाल यह है। त्यौहारों के दौरान अपने लिए परिवार वालों के लिए, दोस्तों और रिश्तेदारों के लिए खरीददारी करने के लिए हर किसी की ज़रूरत को ध्यान में रखना चाहिए। त्यौहार जीवन में नई उमंग को लाते हैं। इसी प्रकार बाज़ार जाने से पहले और शापिंग करने से पहले थोड़ी प्लानिंग ज़रूर कर लेनी चाहिए ताकि बाद में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो सके।
1. अपनी ज़रूरतों को समझें : शॉपिंग की शुरुआत का मुख्य लक्ष्य होता है, अपनी ज़रूरतों को परिभाषित करना यानि समझना। अपनी ज़रूरतों के बाद अपनी प्राथमिकताओं को सुनिश्चित बनाना या उनको निर्धारित करना। निजी ज़रूरतों को जानने के बाद समय है अपने नज़दीकी परिवार वालों की ज़रूरतों और इच्छाओं के संबंध में जानने का।
2.बजट संबंधी योजनाबंदी : ज़रूरतों को जानने के बाद सबसे अहम हिस्सा खरीददारी का बजट है। अपनी ज़रूरी वस्तुओं के अनुसार एक सूची तैयार करें और बजट को निर्धारित करें। बजट के अनुसार खर्च करें हमेशा।
3. मार्किट (बाज़ार) जाना : बजट निर्धारित होने के बाद और सूची तैयार होने के बाद अच्छी मार्किट जाने पर विचार करें। हमेशा घर से विचार करके निकलें कि किस बाज़ार से शॉपिंग शुरू करनी है  और कौन-सी चीज़ ऑनलाइन मंगवाई जा सकती है और कौन-सी बाज़ार में आसानी से कम दाम में मिल सकती है।
4. अच्छे सौदे और छूट को देखें : सबसे बढ़िया तरीका खरीददारी संबंधी है कि अच्छे सौदे और छूट (डिस्काऊंट)। हमेशा अच्छा सौदा प्राप्त करने के लिए यकीन बनाओ और अपनी पसंद को ध्यान में रखते हुए उसी चीज़ को ऑनलाइन पर पहले ढूंढो।
5. हमेशा तुलना करें : मार्किट का लक्ष्य स्थापित करने के बाद और मिलने वाली छूट का पता लगने के बाद अब सब वस्तुओं की तुलना करने का समय है। किसी भी परिणाम तक पहुंचने से पहले उस वस्तु की तुलना करना ज़रूरी है।
6. असरदार ढंग से खरीददारी : हमेशा आश्चर्यजनक काम न करें। अपने बजट के अनुसार चलें और अधिक खर्च न करें। त्यौहारों को बड़े बजट से नहीं बल्कि खुशियों से समाप्त करें।
7. प्रदर्शनी पर जाओ : दीवाली की वस्तुओं के लिए और अच्छे सौदों के लिए शहर की प्रदर्शनियों और मेलों पर जाओ।
8. समझदारी से खर्च करो पटाखों पर : दीवाली रोशनी का त्यौहार है, लेकिन पटाखों को चलाना लोगों की सोच है। पटाखों पर सोच-विचार कर खर्च करें, अधिक खर्च न करें।
9. खुशियों की टोकरी को सांझा करें : आखिरी लेकिन कम नहीं, अपनी खुशियों को सांझा करें। इस त्यौहार के मौसम के दौरान गरीब लोगों से थोड़ी मुक्सान सांझी करने के लिए बजट का कुछ हिस्सा रखना न भूलें।आखिर में बस इतना ही कि आत्मा को स्वच्छ रखें और उपरोक्त टिप्स को याद रखें ताकि आने वाली दीवाली की शॉपिंग आपके लिए आनंददायक तजुर्बा रहे।  

मुस्कान