भारत ए ने विंडीज़ ए को 148 रन से हराया


नार्थ साउंड, 17 जुलाई (वार्ता) : कप्तान मनीष पांडे (100 रन) और शुभमन गिल(77 रन) की जबरदस्त पारियों के बाद क्रुणाल पांड्या (25 रन पर 5 विकेट) की घातक गेंदबाज़ी की बदौलत भारत ए ने वेस्टइंडीज़ ए के खिलाफ तीसरा गैर आधिकारिक वनडे मुकाबला 148 रन के बड़े अंतर से जीत लिया और इसी के साथ मेहमान टीम ने पांच मैचों की सीरीज़ 3-0 से कब्जा ली है। भारत ए की वेस्टइंडीज़ के खिलाफ उसी के मैदान पर सीरीज़ जीत इसलिये अहम है क्योंकि भारतीय सीनियर टीम अगले महीने वेस्टइंडीज़ दौरे पर आने वाली है जिसके लिये 19 जुलाई को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का चयन दल बैठक करेगा। भारत ए टीम के खिलाड़यिं ने अपने प्रदर्शन से आगामी दौरे के लिये चयनकर्ताओं के सामने अपनी मजबूत दावेदारी पेश कर दी है जिसमें मुख्य रूप से मनीष, शुभमन और क्रुणाल अहम हैं। नॉर्थ साउंड में खेले गये तीसरे मैच में भारत ए ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया और निर्धारित 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 295 रन का मजबूत स्कोर बनाया।  इसके जवाब में विंडीज़ टीम 34.2 ओवर में 147 रन पर ही ढेर हो गयी। कैरेबियाई टीम को सस्ते में निपटाने में गेंदबाज़ क्रुणाल की अहम भूमिका रही जिन्होंने सात ओवर में किफायती प्रदर्शन करते हुये 25 रन पर सर्वाधिक पांच विकेट निकाले। वहीं बल्लेबाज़ी में कप्तान मनीष ने मैन ऑफ द मैच प्रदर्शन करते हुये 87 गेंदों में छह चौके और पांच छक्के जड़ते हुये 100 रन बनाये। ओपनर शुभमन ने 81 गेंदों में आठ चौके और एक छक्का जड़ 77 रन की अर्धशतकीय पारी खेली।अन्य बल्लेबाज़ों में श्रेयस अय्यर ने 69 गेंदों में चार चौके लगाकर 47 रन बनाये। वह अपने अर्धशतक से मात्र तीन रन दूर रह गये जिन्हें रखीम कार्नवाल ने रोवमैन पावेल के हाथों कैच कराया। श्रेयस ने शुभमन के साथ 109 रन की साझेदारी की। सलामी बल्लेबाज़ शुभमन का विंडीज़ के खिलाफ यह लगातार दूसरा अर्धशतक है। टॉस जीतने के बाद भारत ए टीम ने पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया लेकिन तीसरे ही ओवर में अनमोलप्रीत सिंह शून्य पर आउट हो गये। हालांकि ओपनर शुभमन और श्रेयस ने फिर टीम को संभाला और दो विकेट पर 122 रन तक ले गये। इस साझेदारी पर ऑफ स्पिन ऑलराउंडर कार्नवॉल ने 27वें ओवर में ब्रेक लगाया। पांडे और गिल ने फिर   110 रन की शतकीय साझेदारी कर टीम को 250 के स्कोर तक पहुंचाया। शुभमन अपने शतक से 23 रन दूर रह गये जिन्हें कार्नवेल ने ही अपना शिकार बनाया जबकि पांडे टीम के अकेले शतकधारी रहे। तेज़ गेंदबाज़ रोमारियो शेफर्ड ने उन्हें इनस्विंग यार्कर डाल पगबाधा कर भारतीय टीम को 300 के नीचे रोक दिया। विंडीज़ की ओर से जॉन कैम्पबेल (21) और सुनील अम्बरीश(30 रन) ने पहले विकेट के लिये 51 रन की साझेदारी कर टीम को अच्छी शुरूआत दिलाई। अम्बरीश ने 32 गेंदों में तीन चौके लगाये जिन्हें आवेश खान ने पगबाधा किया। इसके बाद टीम का अन्य कोई खिलाड़ी अच्छा स्कोर नहीं बना सका। टीम के 10वें नंबर के बल्लेबाज़ कीमो पॉल ने 13 गेंदों में दो चौके और चार छक्के लगाकर 34 रन बनाये और शीर्ष स्कोरर रहे। उंगलियों के स्पिनर क्रुणाल, वाशिंगटन सुंदर और हनुमा विहारी ने विंडीज़ ए के मध्य और निचले क्रम को रोका। विहारी ने पॉल को 35वें ओवर में आउट कर मेजबान टीम के संघर्ष पर विराम लगा दिया। भारतीय टीम की ओर से क्रुणाल को पांच विकेट मिले जबकि हनुमा ने 23 रन पर दो विकेट लिये। नितिन सैनी, सुंदर और आवेश को एक एक विकेट मिला।