बरसात के मौसम में सौन्दर्य सावधानियां


बरसात के मौसम के दौरान दिन के समय का मेकअप हलका, सरल अति सूक्ष्म पूरी सावधानी से किया जाना चाहिए। अस्ट्रिन्जन्ट लोशन को बराबर मात्रा में गुलाब जल में मिलाकर फ्रिज में रख दें तथा त्वचा की सफाई के बाद ठंडे लोशन को सूती कपड़े के पैड से त्वचा को रंगत प्रदान करने के लिए प्रयोग करें। इसमें न केवल त्वचा को स्फूर्ति मिलेगी बल्कि इससे त्वचा के छिद्र बंद करने में भी मदद मिलेगी। एक बर्फीली क्यूब को साफ कपड़े में लपेट कर इससे चेहरे को धो कर साफ कर लें। इससे चेहरे के छिद्र बन्द करने में मदद मिलेगी। जब आप पाऊडर प्रयोग कर रहे हों तब पाऊडर को हल्की गिलास स्पन्ज़ से पूरे चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं, जिससे यह त्वचा पर जम जाता है तथा लम्बे समय तक रहता है। वाटर प्रूफ मस्कारा तथा आई लाइनर से आंखों के मेकअप को गर्म ऋतु में बनाए रखने में मदद मिलती है। अपनी पलकों को भूरे या स्लेटी रंग की लाईन से ढकें तथा यह दिन भर आपको सौम्य स्वभाव प्रदान करेगा। लिपिस्टिक प्रयोग करते वक्त हल्के गुलाबी रंग भूरे तथा बैंगनी रंग जैसे हल्के रंगों का प्रयोग करें। बशर्ते यह आपकी त्वचा के रंग के अनुकूल हो। यदि आपकी त्वचा का रंग पीला है तो नारंगी शेड की बजाय गुलाबी शेड अपनाएं। याद रखें कि रंग बहुत चमकीला नहीं होना चाहिए। बरसात के मौसम में मलाईदार तथा तेलीय पदार्थों से बने सौन्दर्य प्रसाधनों का कम से कम प्रयोग किया जाना चाहिए। शुद्ध ग्लिसरीन तथा शहद के प्रयोग से ज्यादा पसीना आ सकता है। मलाईदार फाउंडेशन तथा आई शेडों का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए। पाऊडर शेड तथा ब्लशर ज्यादा सार्थक होते हैं। 
प्रसाधन सामग्री में हल्दी भीनी सुगन्ध होनी चाहिए। बरसात के मौसम के दौरान प्राकृतिक उत्पादों में गुलाब जल तथा गुलाब आधारित त्वचा टानिक उपयुक्त कहलाए जा सकते हैं। गुलाब प्राकृतिक तौर पर शीतलता-वर्धक माना जाता है। खीरा, पपीता, नींबू रस, खस से बने सौन्दर्य उत्पादों को गर्मी के दौरान सौन्दर्य संबंधी समस्याओं के लिए प्रयोग किया जा सकता है। बरसात के मौसम में दुल्हनों के सौन्दर्य शृंगार को शुभ दिन के तीन हफ्ते पहले टैस्ट कर लेना चाहिए। विभिन्न तरीकों पर गहरे अध्ययन के बाद जो आपको पसन्द आए उसे अपनाना चाहिए। अगर शादी रात के समय में आयोजित की जा रही है तो गहरे रंगों का उपयोग कीजिए क्योंकि चमकदार रंगों से दुल्हनों की आभा फीकी दिखाई देगी। विवाह के दौरान माथे की बिन्दी सौन्दर्य का अभिन्न अंग मानी जाती है। अपनी पोशाक से मिलते-जुलते रंग की चमकदार बिन्दी का प्रयोग करें। छोटे चमकीले और रत्नों से जड़ित चमकदार रंगों की बिन्दी सौन्दर्य में चार चांद लगा देते हैं।