ऐतिहासिक दिवस को विश्व स्तरीय बनाने के लिए संयुक्त प्रयास किए जा रहे : अरुण गोयल


सुल्तानपुर लोधी, 11 अक्तूबर (बलविंदर लाडी): श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समारोहों को यादगारी तरीके से मनाने संबंधी केंद्र सरकार और पंजाब सरकार के उचाधिकारियों द्वारा संयुक्त बैठक के दौरान समारोहों की तैयारियां और चल रहे विकास प्रोजैक्टों का जायजा लिया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए केंद्र के सांस्कृतिक मामलों बारे मंत्रालय के संयुक्त सचिव अरुण गोयल ने कहा कि दोनों सरकार द्वारा इस ऐतिहासिक दिवस को विश्व स्तरीय बनाने के लिए संयुक्त प्रयास किए जा रहे हैं।  उन्हाेंने सभी संबंधित विभागों के प्रमुख सचिवों सहित अन्य सचिवों को कहा कि वे अपने-अपने विभाग से संबंधित प्रोजैक्टों को 20 अक्तूबर तक पूरा कर लें। उन्हाेंने कहा कि दोनों सरकार के अधिकारी समारोहों की सफलता के लिए बेहतरीन तालमेल स्थापित करें ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना न करना पड़े। इस अवसर पर पंजाब के सैरगाह और सांस्कृतिक मामलों से संबंधित विभाग के प्रमुख सचिव विकास प्रताप, निकाय विभाग के प्रमुख सचिव ए.वेणू प्रसाद, परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव के. शिवा प्रशाद, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव हुस्न लाल, सचिव जल सप्लाई और सैनीटेशन जसप्रीत तलवाड़ और सचिव सूचना और लोक संपर्क विभाग की ओर से अपने-अपने विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यो बारे जानकारी दी गई। इस अवसर पर सचिव सूचना और लोक संपर्क विभाग गुरकिरत कृपाल सिंह ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा गुरु नानक देव जी के फलसफे के प्रचार और प्रसार और उदासियों बारे लोगों को अवगत करवाने के लिए राज्य में 25 स्थानों पर आवाज और रौशनी के प्रोग्राम करवाए जा रहे हैं। इन 25 स्थानों में से 22 ज़िला हैडक्वार्टर और गुरु साहिब से संबंधित ऐतिहासिक स्थान सुल्तानपुर लोधी, डेरा बाबा नानक और बटाला शामिल हैं। उन्हाेंने ये भी बताया कि सतलुज और ब्यास दरियाओं के किनारों पर 15 स्थानों पर 45 मिनट का मल्टी मीडिया शो भी करवाया जा रहा है। जबकि सुखना झील चंडीगढ़ की भी इस उद्देश्य से चयन किया गया है। उन्होंने ये भी बताया कि सुल्तानपुर लोधी में मुख्य समारोहों दौरान 500 नामी कलाकारों की ओर से अपनी पेशकारी दी जाएगी। डिवीज़नल रेलवे मैनेजर विवेक अग्रवाल ने बताया कि रेलवे की ओर से समारोह दौरान सुल्तानपुर लोधी के लिए 14 विशेष रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी। इस अवसर पर पूर्व राज्यसभा सदस्य तरलोचन सिंह, सांस्कृतिक मामलों के डायरैक्टर एम.एस. जग्गी, आई.जी. नौनिहाल सिंह, जिलाधीश इंजी: डी.पी.एस. खरबंदा, ए.आई.जी. इंद्रबीर सिंह, एस.एस.पी. सतिंदर सिंह आदि उपस्थित थे।