गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में 550वां प्रकाश पर्व श्रद्धापूर्वक मनाया


बटाला, 12 नवम्बर (काहलों) : आज 550वां प्रकाश दिवस गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में भारतीय सिख संगत और पाकिस्तान सिख संगत द्वारा मिलकर बड़ी श्रद्धा से मनाया गया। चाहे गुरुद्वारा साहिब में पहले श्रीअखंड पाठ साहिब जी के पाठ नहीं रखवाए गए, परंतु आज सुबह रखे पाठ के बाद भोग डाला गया और फरीदकोट से बीबी रूपिंदर कौर ने कीर्तन करके संगत को निहाल किया। संगत द्वारा पाठ किया गया, शबद बोले गए। भारत से गई सिख संगतों के अलावा पाकिस्तान के अलग-अलग शहरों से सिख संगत पहुंची। गुरुद्वारा साहिब को सुंदर रोशनियों से सजाया गया था, जो रात के समय जगाई गईं। भारत से गए सिख श्रद्धालुओं ने इस दिवस पर पहुंचकर गुरु का शुक्राना किया। गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के प्रबंधकों द्वारा गुरुपर्व के मद्देनज़र बहुत बढ़िया लंगर छकाया गया और गुरुद्वारा साहिब की सीमा में बनी दुकानों से सिख श्रद्धालुओं ने खरीददारी की। वर्णनीय है कि पाकिस्तान में बने गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में भारत से गया कोई भी रागी, ढाडी, कविशरी व महिलाओं का जत्था कीर्तन कर सकता है, वहां किसी किस्म की कोई पाबंदी नहीं लगाई गई। सिख वैल्फेयर सोसायटी द्वारा गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के ग्रंथी का विशेष सम्मान किया गया।