शिरोमणि पंथ अकाली बुड्ढा दल व समूह निहंग सिख दलों ने- खालसाई जाहो जलाल से निकाला मोहल्ला


सुल्तानपुर लोधी, 13 नवम्बर (अमरजीत कोमल/बलविंदर लाडी/मनोज शर्मा) : शिरोमणि पंथ अकाली बुड्ढा दल के मुखी सिंह साहिब बाबा बलबीर सिंह अकाली 96 करोड़ी की अध्यक्षता में समूह निहंग सिख जत्थेबंदियों की ओर से श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के संबंध में दशम पिता गुरु गोबिंद सिंह की ओर से बख्शीश निशान साहिब और नगाड़ों की छत्रछाया में गुरुद्वारा अकाल बंगा छावनी बुड्ढा दल नजदीक गुरुद्वारा श्री हट साहिब से मोहल्ले की शुरुआत खालसाई जाहो जलाल से हुई। मोहल्ले में निहंग दलों के मुखी और बड़ी संख्या में निहंग सिख तैयार बर तैयार शस्त्रधारी हो पहुंचे। गुरुद्वारा अकाल बंगा छावनी बुड्ढा दल से निहंग सिखों का एक विशाल काफिला हाथियों, ऊंट, घोड़ों और गाड़ियों के अतिरिक्त पैदल यात्रा करते हुए सदर बाजार, आर्य समाज चौंक, शहीद ऊधम सिंह चौंक, संत घाट चौंक, अनाज मंडी से होते हुए बैंड बाजों की सुंदर धुनों, ढोल नगाड़ों की चोटों और नरसिंघे बजाते हुए जयकारों की गूंज में गुरुद्वारा श्री संत घाट साहिब नजदीक मैदान में पहुंचे। जहां निहंग सिखों ने एक घोड़े से दो, दो से तीन और चार घोड़ों पर सवार हो जंगी करतब दिखाए। इसके अतिरिक्त निहंग सिखों ने किला पुटने और गतके का भी शानदार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर कांग्रेस विधायक नवतेज सिंह चीमा, बाबा बलबीर सिंह सीचेवाल, बाबा मेजर सिंह दशमेश तरना दल लुधियाना आदि उपस्थित थे। घोड़ों के जत्थेदार बाबा इंद्र सिंह ने बुड्ढा दल के इतिहास बारे विस्तारपूर्वक जानकारी दी। अपने संबोधन में सिंह साहिब जत्थेदार बाबा बलबीर सिंह ने आए हुए श्रद्धालुओं का आभार व्यक्त किया और विभिन्न निहंग सिख दलों के मुखियों को सम्मानित किया। समारोह को संबोधन करते हुए जत्थेदार बाबा निहाल सिंह हरियां वेला वालों ने भी गुरु साहिब के प्रकाश दिवस को समर्पित गुरु की लाडली फौज निहंग सिख दलों की ओर से मोहल्ला निकालने बारे जानकारी दी।