गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में स्थापित अजायब घर में इरफान कुरैशी की लाखों में बिकती चित्रकला


बटाला, 20 नवम्बर (काहलों) : गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब जी की ड्योढी में पाकिस्तान के अलग-अलग मशहूर कलाकारों की की तस्वीरें रखी गई हैं। इनमें से सबसे अधिक श्री गुरु नानक देव जी, भाई मर्दाना जी, गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब, शहीद स्थान गुरु अर्जन देव जी, साईं मियां मीर जी, गुरु रामदास जी और अन्य गुरु साहिबान से संबंधित 200 के करीब तस्वीरें हैं। इसमें कुछ दुर्लभ तस्वीरें भी हैं, जो न तो पहले कभी सार्वजनिक की गई हैं और न ही उन बारे कोई एतिहासिक दस्तावेज में अधिक जानकारी ही दर्ज है। इसके अलावा इन तस्वीरों पर गुरुमुखी, परसीयन और उर्दू में लिखी गुरुवाणी की पंक्तियां भी हैं, जो दर्शकों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं। भारत से जाने वाले श्रद्धालु इनको बड़ी उत्सुकता से देखते हैं और यह प्रदर्शनी करतारपुर हैंडीक्राफ्ट के नाम से जानी जाती है, जिसकी देखरेख एम. अब्दुला और हमला इकबाल करते हैं। इन तस्वीरों पर अंग्रेजी में ‘यह तस्वीर देखने के लिए उपलब्ध है’ लिखा हुआ है। हैंडीक्राफ्ट के इंचार्ज द्वारा श्रद्धालुओं के साथ इसको खरीदने संबंधी बातचीत भी की जाती है। यह तस्वीरें 350 डालर से लेकर 3200 डालर से अधिक कीमत की हैं। सबसे महंगी तस्वीरें पाकिस्तान के लाहौर के प्रसिद्ध चित्रकार इरवान कुरैशी की हैं, जिसकी कीमत भारतीय करंसी के अनुसार दो लाख रूपए से अधिक तक की है। चाहे कि श्रद्धालु पाकिस्तान गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब केलिए 11 हजार की भारतीय करंसी ही ले जा सकते हैं, परंतु हैंडीक्राफ्ट के मालिकों द्वारा वैस्टर्न यूनियन से पैसे डलवाने की बात कही जाती है।