बाजवा के कार्यकाल वृद्धि का 7 पाकिस्तानी जनरलों ने किया विरोध


अमृतसर, 2 दिसम्बर (सुरिन्दर कोछड़): पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा के कार्यकाल में की वृद्धि को लेकर जहां एक तरफ पाक सरकार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा खूब फटकार लगाई जा रही है वहीं अब इस मामले को लेकर पाक सेना के उच्चाधिकारियों द्वारा भी कड़ा विरोध शुरू कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि पाक सेना के 7 जनरलाें ने सेना प्रमुख बाजवा के सेवाकाल  को बढ़ाने पर सुप्रीम कोर्ट की पाबंदी का समर्थन करते हुए इस वृद्धि का जमकर विरोध किया है। माना जा रहा है कि पाक सरकार की इस कार्रवाई ने उक्त अधिकारियों के आर्मी चीफ बनने के सपने पर पानी फेर दिया है। विरोध करने वाले 7 जरनैलों में एक दिल्ली स्थित पाकिस्तानी दूतावास में डिफैंस अटैची भी रह चुके हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार चीफ जस्टिस के फैसले का समर्थन करने वाले उक्त जरनैलों की इस सूची में मुलतान के कोर कमांडर लैफ्टिनैंट  जनरल सरफराज सत्तार सेना प्रमुख की नियुक्ति के लिए प्राथमिक सूची में सबसे ऊपर हैं। उनके अतिरिक्त लैफ्टीनैंट जनरल नदीम राजा, लैफ्टीनैंट जनरल हुमाऊं अज़ीज़, लैफ्टीनैंट जनरल नईम अशरफ, लैफ्टीनैंट जनरल बिलाल अकबर प्राथमिकता के क्रम में सातवें स्थान पर हैं।
सरकार ने बनाई कमेटी
पाकिस्तान ने सेना प्रमुख की पुनर्नियुक्ति या उनके कार्यकाल के विस्तार पर नए कानून के मसौदे के लिए सोमवार को मंत्रियों की तीन सदस्यीय कमेटी गठित की। जानकारी के मुताबिक, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, रक्षा मंत्री परवेज खट्टाक और योजना मंत्री असद उमर कमेटी में शामिल किए गए हैं। खबर के मुताबिक कमेटी के सदस्य संसद में विपक्षी दलों के साथ भी नये कानून पर चर्चा करेंगे।