...जब शिक्षा मंत्री ने भी माना पंजाब की वित्तीय हालत खराब

बरनाला, 7 दिसम्बर (नरेन्द्र अरोड़ा, राजेन्द्र बांसल) : पंजाब में विभिन्न बेरोजगार जत्थेबंदियों की तरफ से रोजगार न मिलने कारण किये जा रहे मंत्रियों के घेराव के चलते आज बरनाला में टैट पास बेरोजगार अध्यापकों की तरफ से शिक्षा और लोक निर्माण मंत्री श्री विजयइन्द्र सिंगला के किये गए घेराव और सरकार खिलाफ़ नारेबाजी के बाद इस सम्बन्धित पूछे गए सवालों दौरान श्री सिंगला ने माना कि पंजाब की वित्तीय हालत अच्छी नहीं है और मुख्यमंत्री व वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल कह रहे है कि मुलाजिमों को वेतन देने के लिए आर.बी.आई. से 1000 करोड़ रुपए उधार लेकर आ रहे हैं, तो इस स्थिति में पहले देखना जरूरी है कि नई भर्ती के द्वारा पंजाब की आर्थिकता पर ओर नया बोझ तो नहीं पड़ रहा। सिंगला ने कहा कि उन की हमेशा कोशिश रही है कि मसलों के हल के लिए इन जत्थेबंदियों के साथ बात की जाये, परन्तु जब इन के साथ मीटिंग होती है, तो यह दूसरे दिन धरना लगा देते हैं। परन्तु फिर भी मेरी कोशिश है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ बात करके इन की मांगों का हल किया जाये। इस सम्बन्धित वह पांच एजंडे भी कैबिनेट मीटिंग में लेकर आ रहे हैं। उन्होनें कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से भी सरकारी स्कूलों के बुनियादी ढांचे में सुधार करने के लिए व्यापक उपराले किये जा रहे हैं, जिसके अंतर्गत स्कूलों में टीचर ट्रांसफर पालिसी लेकर आए हैं, रैशनेलाईजेशन कर रहे हैं, स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम, खेलों में बच्चों की रुचि बढ़ाने के लिए उपराले किये जा रहे हैं।