टैंकरों पर लगेंगे महंगे ताले, खर्चा डालने से भड़के पंप मालिक


जालंधर, 14 फरवरी (शिव शर्मा): एक तेल कंपनी द्वारा पैट्रोल पंपों पर सप्लाई किए जाने वाले टैंकरों पर लगने वाले महंगे ताले लगने के निर्देश पर पैट्रोल पंप मालिकों में रोष पाया जा रहा है। उन्होंने कंपनी को महंगे ताले का खर्च वहन करने से स्पष्ट इंकार कर दिया है। पंजाब पैट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन ने तेल कंपनी द्वारा महंगे ताले लगाने के फैसले का विरोध करते हुए कहा कि पैट्रोल पंपों पर पूरी तेल सप्लाई देने की जिम्मेवारी तेल कंपनियों की है। एक तेल कंपनी ने अपने पैट्रोल पंप वालों को चिट्ठियां भेज कर कहा है कि उनके पैट्रोल पंप पर जो पैट्रोल व डीज़ल सप्लाई किया जायेगा, उन टैंकरों पर खास किस्म के ताले लगाये जायेंगे। इसलिए वह उनको अपनी मंजूरी लिख कर दें कि उनके खातों में हर महीने 1500 से 1600 रुपए के करीब कंपनी रकम काट लिया करे। पैट्रोल पंप मालिकों का कहना था कि कंपनी से लगने वाले नए तालों बारे जानकारी मांगी गई कि इसकी कीमत कितनी है पर इसके बावजूद उनको इसकी कोई जानकारी नहीं दी जा रही है। इस बारे मंजूरी देने के लिए आई चिट्ठी से ही पैट्रोल पंप मालिक भड़क गये हैं। पंजाब पैट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन के प्रवक्ता मौंटी सहगल ने बताया कि तेल कंपनियां लंबे समय से तेल सप्लाई करने वाले टैंकरों पर लीकेज रोकने के लिए तरह तरह के ताले लगा कर तजुर्बे कर चुकी हैं परन्तु दो बार किए गए ये तजुर्बे फेल हो चुके हैं। प्रवक्ता का कहना था कि तेल कंपनियों की जिम्मेवारी पैट्रोल पंपों पर पूरा तेल पहुंचाने की है। पैट्रोल पंप मालिकों को अभी भी बिजलई मशीनों द्वारा पैट्रोल व डीज़ल बेचते थे। उन्होंने तेल कंपनियों से मांग की कि उनको फ्लो मीटर द्वारा तेल की सप्लाई की जाए।